US Abortion Pills: अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने निचली अदालत के आदेश पर लगाई रोक, गर्भपात की गोलियां मिलती रहेंगी

वाशिंगटन : अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली गर्भनिरोधक दवा मिफेप्रिस्टोन तक लोगों की पहुंच को बरकरार रखा है। यह दवा बाजार में उपलब्ध रहेगी, जबकि ट्रायल कोर्ट में केस चलता रहेगा। देश में आधे से ज्यादा गर्भपात में इस्तेमाल होने वाली इस दवा का भविष्य उस समय सवालों के घेरे में आ गया था जब टेक्सास की एक अदालत ने 7 अप्रैल को अमेरिकी खाद्य विभाग द्वारा मिफेप्रिस्टोन के इस्तेमाल की दी गई अनुमति को निलंबित कर दिया था।

यह निर्णय बिडेन प्रशासन के लिए एक जीत है, क्योंकि यह अमेरिका में प्रजनन अधिकारों पर एक नई कानूनी लड़ाई में दवा तक पहुंच का बचाव करता है। राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कोर्ट के फैसले की तारीफ की और कहा कि वह खाद्य विभाग के फैसले पर कायम हैं. उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के स्टे के परिणामस्वरूप मिफेप्रिस्टोन उपलब्ध रहेगा। यह सुरक्षित और प्रभावी उपयोग के लिए भी स्वीकृत है। हम कोर्ट में इसके लिए लड़ाई जारी रखेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि आने वाले चुनाव में भी वह इस मुद्दे को उठाएंगे। बाइडेन ने सुप्रीम कोर्ट के 1973 के एक ऐतिहासिक फैसले का जिक्र करते हुए कहा, जिसमें गर्भपात करीब आधी सदी तक संवैधानिक अधिकार था। इसे जून 2022 में पलट दिया गया था।