Raw Banana Benefits: डायबिटीज में बिंदास खा सकते हैं कच्चा केला, हैं कई फायदे

Raw Banana Benefits: केला एक ऐसा फल है जिसे इसके गुणों के कारण एनर्जी का पावर हाउस कहा जाता है. इसका एक ऐसा स्वाद है जो युवा और वृद्ध दोनों के लिए उपयुक्त है। हालांकि, पका हुआ केला खाना डायबिटीज के मरीज के लिए हानिकारक साबित होता है। लेकिन मधुमेह के रोगी कच्चे केले का बिंदा खा सकते हैं.. कच्चे केले में भी पके केले के समान ही गुण होते हैं और इसके कई स्वास्थ्य लाभ होते हैं। खासतौर पर अगर डायबिटीज के मरीज कच्चे केले का सेवन करें तो यह शुगर को कंट्रोल करने में भी मदद करता है। कच्चे केले में स्टार्च की मात्रा अधिक होती है जबकि केला पकने पर यह स्टार्च चीनी में बदल जाता है। इस वजह से मधुमेह रोगी के लिए पका हुआ केला खाना जरूरी नहीं है। लेकिन अगर डायबिटीज के मरीज कच्चे केले का सेवन करें तो इसके कई फायदे होते हैं।

 

कच्चे केले खाने के फायदे

-कच्‍चे केले भी पोषक तत्‍वों से भरपूर होते हैं। यह विशेष रूप से फाइबर में उच्च है। अगर किसी चीज की लालसा होने पर आप कच्चा केला खा लेते हैं तो आपको घंटों तक भूख नहीं लगेगी। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इसमें फाइबर की मात्रा ज्‍यादा होती है। अगर आपका वजन ज्यादा है तो आपको कच्चे केले खाने चाहिए।

– कच्चे केले में पोषक तत्व भी होते हैं जो आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं। जिससे पाचन क्रिया में सुधार होता है। कच्चा केला खाने से कब्ज की शिकायत दूर होती है। 

– जिन लोगों का ब्लड शुगर हाई होता है उन्हें कच्चे केले का सेवन करना चाहिए. कच्चे केले में ऐसे तत्व होते हैं जो ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। कच्चे केले खाने से ब्लड शुगर स्पाइक्स को रोकता है क्योंकि इनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है।