उल्लू से होता है शकुन और अपशकुन दोनों, जानिए

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार उल्लू और कौए के कुछ इशारे हमारे लिए शुभ होते हैं, वहीं कुछ अशुभ भी होते हैं। इसलिए यदि हमें कभी उल्लू या कौए दिखाई दें या उनका स्वर सुनाई दे तो हमें उसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। आइए जानते है उल्लू और कौए से जुड़े कुछ शकुन-अपशकुन।

उल्लू से जुड़े शकुन-अपशकुन:

# यदि कोई उल्लू किसी के घर पर बैठना प्रारंभ कर दे, तो वह घर शीघ्र ही उजड़ सकता है और उस घर के मालिक पर कोई विपत्ति आने की संभावना बढ़ जाती है।

# यदि उल्लू रात में यात्रा कर रहे व्यक्ति को होम-होम की आवाज करता मिले तो शुभ फल मिलता है, क्योंकि इसी प्रकार की ध्वनि यदि वह फिर करता है तो उसकी इच्छा रमण करने की होती है।

# शकुन शास्त्र के अनुसार यदि किसी घर की छत पर बैठ कर उल्लू बोलता है तो उस घर के स्वामी अथवा परिवार के सदस्य की मृत्यु होने की संभावना रहती है।

# यदि किसी के दरवाजे पर उल्लू तीन दिन तक लगातार रोता है, तो उसके घर में चोरी अथवा डकैती होने की संभावना अधिक रहती है। अथवा उसे किसी न किसी रूप में धन की हानि अवश्य होती है।

# शकुन शास्त्र के अनुसार उल्लू का बांई ओर बोलना और दिखाई देना शुभ रहता है। दाहिने देखना और बोलना अशुभ होता है।

# मेहमान के पीछे की तरफ यदि उल्लू दिखाई दे तो काम में सफलता मिलने के योग बढ़ जाते हैं। ईरान में उल्लू के स्वर के मधुर अथवा कर्कश होने के अनुसार शुभ-अशुभ माना जाता है।