Ali Ahmed Letter : अतीक के बेटे अली का मुसलमानों के नाम पत्र, कहा- किसी के बहकावे में न आएं, SP-BJP न दें वोट

Ali Ahmed Letter: माफिया अतीक अहमद (Atique Ahmed) की हत्या कर दी गई लेकिन उसके अंत के बाद भी उसे लेकर चर्चा खत्म ही नहीं हो रही है. इस बार चर्चा का कारण है उसके बेटे अली अहमद (Ali Ahmed) की वायरल हो रही कथित चिट्ठी. इस चिट्ठी में योगी आदित्यनाथ, बीजेपी से लेकर सपा तक का जिक्र किया गया है. वायरल होती इस चिट्ठी में मुसलमानों के लिए भी कई तरह की अपील की गई है.

मुसलमानों का भी जिक्र 
चिट्ठी में लिखा है कि मुसलमान भाई एक हो जाएं. न तो बीजेपी और न ही समाजवादी पार्टी (BJP-SP) को वोट करें. मुसलमानों को किसी के बहकावे में नहीं आना है. ये वायरल होता लेटर अतीक के बेटे अली के द्वारा लिखे जाने का दावा किया जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि माफिया अतीक ने जो कुकर्म अपने जीते जी किए थे उसका खामियाजा उसका परिवार बुरी तरह से भुगत रहा है.

जेल में बंद है अली
नैनी सेंट्रल जेल में बंद अली अहमद का ये कथित पत्र इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है. म रहकर भी वो अतीक के भय को फैलाए रखने की कोशिश में लगा हुआ है. उसकी ये कोशिशें यूपी के निकाय चुनावों को लेकर भी हो सकती है. कथित लेटर में शुरुआत ऐसे की गई है कि- अस्सालमु अलैकुम! मैं अली अहमद मरहूम अतीक अहमद के लड़के आप लोगों से गुजारिश करता हूं कि मेरे बुजुर्गों, मेरे भाई, मेरी मां, बहन आप लोग देख रहे हैं कि कैसे मेरे वालिद, मेरे चाचा अशरफ और मेरे भाई असद का एनकाउंटर दिया गया. और अब हमको मारने की कोशिश की जा रही है.

मुसलमानों से अपील
अली के कथित लेटर में मुसलमानों से खास अपील की गई है. लेटर में कहा गया है कि भाइयों से विनती है कि जितना हाथ भाजपा योगी आदित्यनाथ का है उतना ही सपा का है. आप लोगों से मैं गुजारिश कर रहा हूं कि आप मुसलमान भाई एक होकर भाजपा और सपा को न वोट दें. पुलिस मेरी वालिदा का एनकाउंटर करने में लगी है. अब हम मुसलमान किसी के बहकावे में नहीं आएंगे.आप से अपेक्षा है कि आप लोग मेरा साथ दें. खुदा हाफिज!

हालांकि ज़ी मीडिया इस चिट्ठी की पुष्टि नहीं करता है, लेकिन नगर निकाय चुनाव से पहले अतीक के कुनबे की तरफ से इस चिट्ठी को एक बड़े सियासी दांव की तरह देखा जा सकता हैं.