10 मार्च से आ सकता है LIC का IPO: आपकी लैप्स पॉलिसी है तो जानिए क्या होगा

देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी सबसे बड़े IPO की तैयारी में है। माना जा रहा है कि इसका इश्यू 10 मार्च को खुल सकता है। पर अगर आपकी LIC की पॉलिसी लैप्स यानी बंद हो गई है तो आपको डिस्काउंट मिलेगा या नहीं, इसकी जानकारी सेबी के पास जमा मसौदे में दी गई है।

बहुत सारे लोगों की पॉलिसी बंद हो जाती है

दरअसल, बहुत सारे लोगों की LIC की पॉलिसी बंद हो जाती है। इसके कई कारण हैं। आप समय पर प्रीमियम नहीं भरते हैं या फिर आप आधे रास्ते में ही पॉलिसी को भूल जाते हैं। ऐसी पॉलिसीज बंद हो जाती हैं। हालांकि समय-समय पर LIC ऐसी पॉलिसीज को चालू कराने का अवसर भी देती है। हाल में इसने कहा है कि 5 साल से जो पॉलिसीज बंद हैं, उसमें कम चार्ज भरकर उसे चालू कराया जा सकता है।

पॉलिसीधारकों के लिए 10% हिस्सा रिजर्व

LIC ने IPO में अपने पॉलिसीधारकों के लिए 10% हिस्सा रिजर्व रखा है। यानी 65 हजार करोड़ रुपए के इश्यू में जिनके पास पॉलिसी है, उनको 6,500 करोड़ रुपए के शेयर मिल सकते हैं। DRHP के अनुसार, “मेरे पास LIC की एक पॉलिसी है जो लैप्स हो चुकी है तो क्या मैं पॉलिसी होल्डर रिजर्वेशन हिस्सा के अंतर्गत पात्र हूँ?

नए पॉलिसी धारक भी हिस्सा ले सकते हैं

सभी पॉलिसीज जो मैच्योरिटी, सरेंडर या पॉलिसी होल्डर की मृत्यु के माध्यम से हमारे रिकॉर्ड से बाहर नहीं हुई हैं, पॉलिसी होल्डर रिजर्वेशन पोर्शन के तहत आरक्षण के पात्र हैं? यहां तक कि नए LIC पॉलिसी होल्डर भी रिजर्व हिस्से के तहत IPO प्रक्रिया में बोली लगाने के पात्र हैं। ऐसे ग्राहक जिन्होंने पॉलिसी के लिए फाइल किया है लेकिन अभी तक पॉलिसी दस्तावेज प्राप्त नहीं किया है वे इससे बाहर हो सकते हैं।

DRHP के अनुसार, पॉलिसी होल्डर को इस रिजर्व हिस्से के लिए पॉलिसी ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) की तारीख को या उससे पहले जारी की जानी चाहिए थी। IPO खुलने की तारीख पर सरेंडर या मैच्योरिटी या मृत्यु के दावे के माध्यम से बाहर (exit) नहीं होना चाहिए।

5% हिस्सा बेचा जाएगा

पिछले हफ्ते, सरकार ने जीवन बीमा निगम (LIC) में 5% हिस्सेदारी की बिक्री के लिए कैपिटल मार्केट रेगुलेटर सेबी के पास DRHP का मसौदा जमा किया। इससे पहले एक विज्ञापन में इसने कहा कि किसी भी IPO में भाग लेने के लिए पॉलिसी होल्डर्स को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके पैन डिटेल्स LIC के रिकॉर्ड में अपडेट किए गए हैं। इसके अलावा, किसी भी IPO में आप तभी शामिल हो सकते हैं, जब आपके पास डीमैट अकाउंट होगा।

दो बातें जरूरी हैं

IPO के लिए आवेदन करने के लिए पॉलिसी धारकों को जिन दो चीजों की आवश्यकता होती है, इसमें ये बाते हैं। पहला, पॉलिसी धारक का पैन कार्ड LIC पोर्टल पर अपडेट किया जाना चाहिए। दूसरा, पॉलिसी धारक के पास डीमैट खाता होना चाहिए। DRHP के अनुसार, पॉलिसी होल्डर जो 28 फरवरी, 2022 से पहले अपना पैन अपडेट नहीं करता है, वह इस IPO में शामिल नहीं हो पाएंगे।

21,500 करोड़ लावारिस रकम

वैसे LIC ने बताया है कि उसके पास सितंबर 2021 तक पॉलिसीधारकों के 21,500 करोड़ रुपए ऐसे हैं जो लावारिस हैं। यानी इनके लिए कोई दावा करनेवाला नहीं है। इसका मतलब या तो इन पॉलिसीधारकों की मौत हो गई या फिर इनके बारे में उनके परिवार को पता नहीं है। मार्च 2021 तक 18,495 करोड़ रुपए और 2020 मार्च तक यह रकम 16,052 करोड़ रुपए थी जो मार्च 2019 तक 13,842 करोड़ रुपए थी।