सूडान में फंसे भारतीय कब आएंगे घर?जानिए कहां पहुंचा है पीएम मोदी का ‘ऑपरेशन कावेरी’

सूडान हिंसा में फंसे भारतीयों की सकुशल वापसी के लिए अब ऑपरेशन कावेरी तेज कर दिया गया है. सूडान में सेना और अर्धसैनिक बलों के बीच भीषण संघर्ष जारी है, जिसमें अब तक 400 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। ऐसे में वहां फंसे भारतीय लोगों को लेकर भारत सरकार की चिंता बढ़ गई है. अब 135 अन्य फंसे भारतीयों का तीसरा जत्था सऊदी अरब के जेद्दा पहुंच गया है। ये लोग IAF C-130J विमान में सवार हैं। उन्हें संकटग्रस्त सूडान से सुरक्षित निकाल लिया गया है।

इससे पहले बुधवार (26 अप्रैल) सुबह विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने 148 भारतीयों के दूसरे जत्थे का स्वागत किया। इसके अलावा एक और नौसैनिक पोत आईएनएस सुमेधा 278 यात्रियों को लेकर जेद्दा बंदरगाह पहुंचा। इस बीच विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि ऑपरेशन कावेरी जोरों पर चल रहा है। दूसरी ओर, पोर्ट सूडान से IAF C-130J की एक उड़ान 135 और यात्रियों को लेकर जेद्दा पहुंच गई है। ऑपरेशन कावेरी के तहत निकाले गए लोगों का यह तीसरा जत्था है।

 

सूडान में करीब तीन हजार भारतीय रहते हैं

सूडान में कुल मिलाकर लगभग 3,000 भारतीय हैं। सूडान की राजधानी खार्तूम में कई स्थानों से भारी लड़ाई की खबरों के साथ सूडान में सुरक्षा स्थिति अस्थिर बनी हुई है। यहां पिछले 10 दिनों से सेना और अर्धसैनिक बलों के बीच भीषण संघर्ष में 400 से अधिक लोगों की जान चली गई है।

पीएम मोदी के निर्देश के बाद हरकत में आया विदेश मंत्रालय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (21 अप्रैल) को एक उच्च स्तरीय बैठक में सूडान से भारतीयों की सुरक्षित निकासी के लिए योजना तैयार करने का निर्देश दिया। विदेश मंत्री जयशंकर ने हाल ही में सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्रियों के साथ सूडान की स्थिति पर चर्चा की।