सुंदर, रेशमी बालों के लिए घरेलू उपचार

जादुई घरेलू उपचार : आज के तनावपूर्ण और व्यस्त जीवन में हम शरीर की उचित देखभाल नहीं करते हैं। इससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और हम कई तरह की बीमारियों के शिकार हो जाते हैं। बदलते मौसम में भी हम कई तरह की बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। नियमित रूप से दवा लेने से भी शरीर पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। लेकिन इसके लिए कुछ घरेलू नुस्खे और घरेलू नुस्खे हैं। अगर आप इसका इस्तेमाल करेंगे तो आप बीमारियों से भी दूर रहेंगे।

संक्रामक रोगों से खुद को बचाने के लिए हमें दादी-नानी के पर्स से निकलने वाले उपायों का इस्तेमाल करना चाहिए। अजीबाई का बटवा एक घरेलू उपचार है जो हमारी दादी-नानी की पीढ़ी से चला आ रहा है। इन उपायों में सर्दी-खांसी से लेकर घाव भरने तक सब कुछ शामिल है।

जानिए क्या हैं ये उपाय

1. इंस्टेंट कफ सिरप (इंस्टेंट कफ सिरप)
बदलते मौसम में बच्चे और बड़े दोनों ही बीमार हो जाते हैं। यह सर्दी-खांसी का असरदार घरेलू इलाज है। इसके लिए एक गिलास गर्म पानी में तीन से चार बूंद नींबू का रस, एक चम्मच शहद और एक चुटकी दालचीनी पाउडर मिलाएं। यह मिश्रण कुछ ही समय में आपकी सर्दी-खांसी को ठीक कर देगा।

2. डार्क सर्कल्स से पाएं छुटकारा
आप में से ज्यादातर लोगों ने देखा होगा कि आपकी दादी डार्क सर्कल से छुटकारा पाने के लिए अपनी आंखों के नीचे बादाम का तेल लगाने की सलाह देती हैं। बचपन में आपने सोचा होगा कि तेल की कुछ बूंदें उन काले धब्बों को कैसे दूर कर सकती हैं। इसलिए जब आपने वयस्कता में कदम रखा, तो आपने इसके जादू को महसूस किया और उसी उपाय को अपने ऊपर इस्तेमाल किया। बस बादाम के तेल की 2-3 बूंदें आंखों के नीचे लगाएं और रात भर के लिए छोड़ दें। आप सिर्फ 3-4 दिनों में उन गहरे काले घेरों को अलविदा कह सकते हैं।

3. मुंहासों से छुटकारा पाएं मुंहासों
के इलाज के लिए बाजार में कई उत्पाद उपलब्ध हैं। लेकिन कुछ साल पहले, जब आपकी दादी छोटी थीं, ऐसे कोई उत्पाद उपलब्ध नहीं थे। तब लोग इस घरेलू नुस्खे का इस्तेमाल करते थे। इसके लिए 2 चम्मच दही लें, उसमें आधा चम्मच शहद मिलाएं और इस मिश्रण को चेहरे पर मास्क की तरह लगाएं। अब इसे धोकर दो बार दोहराएं।

4. सर्दी-खांसी के उपाय
छोटे बच्चे उतार-चढ़ाव वाली बीमारियों से ज्यादा बीमार पड़ते हैं। ऐसे में बच्चों को बाजार में बिकने वाली दवाएं बार-बार देने की बजाय इस उपाय को आजमाएं। इसके लिए एक गिलास गर्म पानी में जीरा, कुटा हुआ गुड़ और एक चुटकी काली मिर्च मिलाएं। इसे दिन में दो से तीन बार पीने से सर्दी-जुकाम ठीक हो जाता है।

पुराने दिनों में, आज जितने अलग-अलग उत्पाद उपलब्ध नहीं थे। उस समय बूढ़े लोग अपने बालों की देखभाल सिर्फ घरेलू नुस्खे से ही करते थे। आप नारियल तेल या अरंडी के तेल में नींबू के रस की कुछ बूंदों को मिलाकर भी ले सकते हैं। इस तेल को अपने बालों में लगाएं। इसे 30 से 40 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद माइल्ड शैंपू की मदद से बालों को गुनगुने