सफलता दिलाने में मददगार इन 5 राशियों के जातकों पर कभी नहीं पड़ता शनि

वैदिक ज्योतिष में शनि को ग्रहों के न्यायाधीश का दर्जा दिया गया है। इसका अर्थ है कि व्यक्ति जो भी कार्य करता है उसे शनि देव से वैसा ही फल मिलता है। इसलिए इन्हें कर्मफल दाता भी कहा जाता है। हालांकि शनिदेव का नाम सुनते ही लोग डर जाते हैं। लेकिन जरूरी नहीं कि शनि हर बार परेशानी ही दे। कुछ राशियां ऐसी होती हैं जिन पर शनि देव की कृपा हमेशा बनी रहती है। यही कारण है कि इस राशि के जातक दिन में दुगुनी और रात में चौगुनी तरक्की करते हैं। जानिए किस राशि पर शनि हमेशा मेहरबान रहते हैं।

TAURUS

इस राशि का स्वामी शुक्र है। शुक्र और शनि मित्र हैं इसलिए इन लोगों पर शनि का प्रभाव अधिक नहीं होता है। जब शनि वृष राशि में साधारण सती में होता है तब भी इसका प्रभाव थोड़े समय के लिए ही होता है और ये लोग किसी भी परेशानी से ज्यादा समय तक पीड़ित नहीं रहते हैं।

कर्क राशि

कर्क राशि वालों को भी शनि ज्यादा परेशानी नहीं देता है। इन लोगों को शनिदेव की कृपा से धन और मान-सम्मान की प्राप्ति होती है। हालांकि, यदि कुंडली में अशुभ दशा, अंतर्दशा और महादशा हो तो इन लोगों को साधारण सती में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। इन लोगों की तरक्की शनिदेव की कृपा से होती है।

तुला

तुला राशि भी शनि की प्रिय राशियों में से एक है। शनि के उच्च होने से इन्हें हमेशा इनकी कृपा प्राप्त होती है। यदि तुला राशि के जातक दूसरों पर दया करते हैं तो शनि उन्हें सफलता में अधिक मदद करता है। इस राशि के लोगों को मेहनत का फल भी मिलता है। जीवन में सफलता के साथ ये उच्च पदों पर पहुंचते हैं।

मकर

मकर राशि वालों पर शनि हमेशा अपनी कृपा बनाए रखते हैं। वे इस राशि के स्वामी भी हैं। इसलिए मकर राशि के जातक शनि के बुरे प्रभाव से कम ही पीड़ित होते हैं। शनि की कृपा से इस राशि के लोग हर क्षेत्र में सफलता के परचम लहराते हैं।

कुंभ राशि

इस राशि के जातकों को शनि कम ही कष्ट देते हैं। मकर के साथ-साथ ये इस राशि के स्वामी भी हैं। ये कुंभ राशि के जातकों पर हमेशा अपनी कृपा बरसाते हैं और इन्हें ज्यादा मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ता है। कुंभ राशि वालों पर भी मां लक्ष्मी की कृपा होती है। अगर ये लोग मेहनत करते हैं तो सफलता भी इनके कदम चूमती है।