श्रावण मास में वृक्षशास्त्र के अनुसार किन राशियों को भगवान को कौन सा फूल चढ़ाना चाहिए

आज से श्रावण मास शुरू हो गया है। श्रावण मास भक्ति से भरा महीना है। इस महीने में भगवान भोलेनाथ की पूजा का विशेष महत्व है। आइए बात करते हैं कि श्रावण मास में वृक्षशास्त्र के अनुसार किन राशियों को भगवान को कौन सा फूल चढ़ाना चाहिए।

मेष राशि

मेष राशि के अविवाहित युवक या युवतियां अपने रिश्तेदारों के लिए श्रावण मास में देवी पार्वती को मोगरा का फूल चढ़ाते हैं और उनकी मनोकामना पूरी होती है।

वृषभ

गणेश जी को पीला गलगोटा का फूल चढ़ाने से वृष राशि के जातकों के जीवन में कभी भी बाधा नहीं आएगी।

मिथुन राशि

यदि मिथुन राशि के जातक आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं, तो उन्हें श्रावण मास के दौरान देवी लक्ष्मी को लाल जसूद का फूल अर्पित करना चाहिए। लाल जसूद का फूल लगाने से उनकी आर्थिक तंगी दूर होगी।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के क्रोधी स्वभाव के कारण उनके कार्यों में रुकावटें आती हैं।

लियो

सिंह राशि के लोगों के साथ अक्सर ऐसा होता है कि वे कितनी भी मेहनत कर लें, उन्हें अपनी मेहनत का फल नहीं मिलता है। श्रावण मास में भोलेनाथ को गुलाब का फूल चढ़ाएं तो समस्या का समाधान होगा।

कन्या

इस राशि के लोगों को गृह क्लेश का सामना करना पड़ता है। यदि वे भगवान विष्णु को कमल का फूल चढ़ाते हैं, तो गृह क्लेश दूर हो जाते हैं।

तुला

इस राशि के जातक भाई बहन से परेशान रहते हैं। श्रावण मास में भोलेनाथ की पूजा करने से यह समस्या दूर हो जाती है।

वृश्चिक

इस राशि के लोग संतान से जुड़ी समस्याओं से परेशान रहते हैं। श्रावण मास में भोलेनाथ को मोगरा का फूल चढ़ाएं तो संतान संबंधी समस्या का समाधान होगा।

पैसे

धनु राशि के लोगों को नौकरी और व्यापार को लेकर परेशानी होती है। यदि वे भोलेनाथ को गलगोटा का फूल चढ़ाएं, तो उनकी समस्या का समाधान होगा।

मकर राशि

इस राशि के लोगों का दिमाग साफ होता है लेकिन उनका गुस्सा उन पर हावी हो जाता है। यदि वे श्रावण मास में गणेश जी को चमेली का फूल चढ़ाएं तो उनकी समस्या का समाधान होगा।

कुंभ राशि

इस राशि के लोगों को रिश्तों में कई उतार-चढ़ाव झेलने पड़ते हैं। यदि वे देवी पार्वती को कमल का फूल चढ़ाएं, तो उनकी समस्या का समाधान होगा।

मीन राशि

मीन राशि वाले किसी भी निर्णय पर जल्दी नहीं आ सकते। वे हमेशा संदेह करते रहते हैं। श्रावण मास में यदि वे भोलेनाथ को गुलाब का फूल चढ़ाएं तो यह समस्या नहीं होगी।