शिक्षक नौकरी घोटाला: सीबीआई ने उत्तर बंगाल विश्वविद्यालय के कुलपति के घर पर छापा मारा

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार सुबह शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में उत्तर बंगाल विश्वविद्यालय के कुलपति सुबीरेश भट्टाचार्य पर छापेमारी शुरू की।

भट्टाचार्य सिलीगुड़ी में विश्वविद्यालय परिसर के अंदर सरकारी आवास में रहते हैं।

सीबीआई की एक और टीम दक्षिण कोलकाता में उनके फ्लैट पर पहुंची लेकिन वहां ताला लगा मिला।

काफी देर तक अधिकारी घर के बाहर इंतजार करते रहे लेकिन किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। वे फ्लैट के अंदर छापेमारी नहीं कर पाए। सीबीआई ने शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में कोलकाता के बांसड्रोनी इलाके में स्थित कुलपति के फ्लैट को सील कर दिया है.

जुलाई में, प्रवर्तन निदेशालय ने पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाले में कथित मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी तब हुई जब जांच एजेंसी ने चटर्जी की एक करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के घर से शुक्रवार रात 20 करोड़ रुपये नकद बरामद किए।

कथित शिक्षक नौकरी घोटाला 2014 में शुरू हुआ जब पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (एसएससी) ने राज्य स्तरीय चयन परीक्षा (एसएलएसटी) के माध्यम से पश्चिम बंगाल के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की नियुक्ति के लिए एक अधिसूचना जारी की।

भर्ती प्रक्रिया 2016 में शुरू हुई जब पार्थ चटर्जी पश्चिम बंगाल के उच्च शिक्षा और स्कूल शिक्षा विभाग के प्रभारी मंत्री थे। हालांकि, भर्ती प्रक्रिया में विसंगतियों का आरोप लगाते हुए कलकत्ता उच्च न्यायालय में कई याचिकाएं दायर की गईं।