शनि वक्री 2023 : कुंभ राशि में वक्री होंगे शनि, इस राशि के जातकों के जीवन में आएगी बड़ी उथल-पुथल

शनि वक्री 2023 : न्याय के देवता और कर्मफल के दाता 17 जून को अपनी स्वराशि में बदल जाएंगे। शनिदेव वक्री के नकारात्मक प्रभाव से कुछ लोगों के जीवन में उथल-पुथल मच सकती है। न्याय के देवता शनि प्रत्येक व्यक्ति को उसके कर्म के अनुसार शुभ और अशुभ फल प्रदान करते हैं। शनि के वक्री होने का सभी राशियों पर शुभ और अशुभ प्रभाव पड़ेगा। लेकिन ज्योतिष गणना के अनुसार कुम्भ राशि में वक्री शनि तीनों राशियों के जातकों को अशुभ फल देगा। शनि इस समय कुम्भ राशि में है और 17 जून को 10 बजकर 48 मिनट पर वक्री होगा। यह 4 नवंबर तक कक्षा में रहेगा और फिर आगे बढ़ेगा। यानी 17 जून से 4 नवंबर तक का समय इन तीन राशियों के लिए सतर्क रहने का समय है। 

 

एआरआईएस

मेष राशि के जातक शनि की वक्री चाल से परेशान रहेंगे। आर्थिक हानि होने की संभावना है। इस दौरान दांपत्य जीवन में चिंताजनक स्थिति रहेगी। आपके कार्यों में दिक्कतें आ सकती हैं। इस दौरान वाद-विवाद से दूर रहें।

कर्क राशि

शनि का वक्री होना कर्क राशि के जातकों के लिए अशुभ माना जाता है। इस दौरान धन हानि हो सकती है। वाद-विवाद भी हो सकता है। इसके अलावा और भी समस्याएं हो सकती हैं।

कुंभ राशि

कुंभ राशि वालों के लिए भी यह समय नकारात्मक रहेगा। इस दौरान कुंभ राशि के जातकों को शारीरिक के साथ-साथ मानसिक कष्टों का भी सामना करना पड़ सकता है। करियर के प्रति सचेत रहें और सोच समझकर निर्णय लें।