विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे ने सरकार पर लगाए गंभीर आरोप,कहा ‘ UP सरकार हमे परेशन कर रही है ‘

बहुचर्चित कानपुर एनकाउंटर में मारे गए विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे ने सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार हमें परेशान कर रही है। राजधानी लखनऊ में मंगलवार को पत्रकारों से वार्ता करते हुए रिचा ने कहा कि सरकार के लोग हमें परेशान कर रहे हैं। पति की मौत के दो साल बाद भी मृत्यु का प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा है। भाजपा के कुछ नेता हमारी जमीनों पर कब्जा कर रहे हैं। हमारी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। जिसके पास काम लिए जाओ तो कहता है कि मुख्यमंत्री ने मना किया है। इसलिए कोई मदद नहीं हो पा रही है। हम लोग बेघर होकर घूम रहे हैं। हमारे परिवार को बहुत सारी परेशानी उठानी पड़ रही है। बच्चों की पढ़ाई छूट गई है। पैसे के अभाव में कई प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

रिचा ने कहा कि सरकार कहती है कि हमारे पास 5 हजार करोड़ की संपत्ति है। जबकि रुपए न होने की वजह से मेरे बड़े बेटे की पढ़ाई बंद हो गई है।

रिचा ने कहा कि आए दिन लोग हमारे घरवालों को धमकी दे रहे हैं। 2 दिन पहले कुछ लोगों ने मेरे बेटे को धमकाया। उसे गाली देकर मेरा नंबर मांग रहे थे। ऋचा ने कहा कि भाजपा नेता राजीव बाजपेई ने हमारी जमीन पर कब्जा किया है। न पुलिस सुन रही न प्रशासन, आखिर हम कहां जाएं।

उन्होंने कहा कि इस मामले से जुड़े जितने भी परिवार हैं। उनके लोग परेशान कर रहे हैं। कहा कि मेरे पति को गलत तरीके से मारा गया है। लेकिन हमारा पक्ष कोई नहीं सुन रहा है। ऋचा ने कहा कि अगर जेल बंद खुशी दुबे को टिकट मिलता है तो मैं उनका चुनाव प्रचार जरूर करूंगी। वो भी निर्दोष है। चुनाव लड़ने के सवाल पर ऋचा ने कहा कि अभी ऐसा कुछ नहीं है। मगर, भविष्य के बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है।

रिचा के वकील ब्रह्मोश सिंह ने कहा कि हमने न्यायिक आयोग में गुहार लगाई। जांच के लिए आयोग के 3 सदस्यों की टीम बनी। मगर, उसमें एक भी ब्राह्मण को शामिल नहीं किया गया। आयोग के ही एक सदस्य कहते हैं कि मैं पुलिस वालों की हत्या का बदला लेता। ऐसे रिटायर्ड अफसर कैसे निष्पक्ष जांच करेंगे?