वास्तु टिप्स: घर में बना रहे हैं अटैच बाथरूम तो अपनाएं ये वास्तु नियम, नहीं तो होंगे ये नुकसान

अटैच्ड बाथरूम के लिए वास्तु टिप्स: वास्तु शास्त्र ऊर्जा के प्रवाह पर विशेष ध्यान देता है। वास्तु के अनुसार घर की प्रत्येक दिशा में सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा जरूर होती है, जिसका प्रभाव परिवार के सभी सदस्यों पर पड़ता है। आजकल ज्यादातर घरों में अटैच्ड बाथरूम बना हुआ है। ऐसे में अगर आप भी नया घर या फ्लैट बनवा रहे हैं तो अटैच्ड बाथरूम बनवाते समय इन नियमों का पालन करें।

पति-पत्नी के संबंधों पर प्रभाव

घर के बेडरूम में अटैच्ड लेट-बाथ भी पति-पत्नी के रिश्ते को प्रभावित करता है। अपने बेडरूम में सोते समय इस बात का ध्यान रखें कि आपके पैर बाथरूम की तरफ न हों। वास्तु शास्त्र के अनुसार ऐसा होने पर पति-पत्नी के बीच झगड़े बढ़ने लगते हैं। पति-पत्नी के बीच बेवजह के झगड़े होते हैं और कभी-कभी तो यह तलाक तक की नौबत आ जाती है।

आर्थिक स्थिति पर प्रभाव

अगर घर में अटैच बाथरूम बाथ सही दिशा में नहीं है तो इसका असर जेब पर भी पड़ता है। परिवार की आर्थिक स्थिति खराब होने लगती है। सोते समय बाथरूम का दरवाजा हमेशा बंद रखें।

वास्तु के इन नियमों का करें पालन, मिलेगी राहत

अटैच्ड बाथरूम से अक्सर घर में वास्तु दोष हो सकता है और इससे बचने के लिए अपने बाथरूम में एक कांच का कटोरा रखें और उसमें नमक भर दें। इसे 1 सप्ताह के लिए बाथरूम में छोड़ दें और फिर नमक को सिंक में बहा दें और फिर कटोरे में दूसरा नमक डालें।