रूस के खिलाफ युद्ध अपराधों के आरोप

: रूस-यूक्रेन के बीच युद्ध का छठा महीना शुरू हो गया है। यूक्रेनी सेना ने अब तक रूसी सेना के 50 गोला-बारूद डिपो को नष्ट कर दिया है। यह ऑपरेशन अमेरिका द्वारा मुहैया कराए गए हिमारस रॉकेट सिस्टम का इस्तेमाल कर किया गया है। अमेरिका ने जून में यूक्रेन को हथियार दिए थे। यूक्रेन के रक्षा मंत्री ओलेक्सी रेजनिकोव ने कहा, अमेरिका से हाई-मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम हिमारस ने शानदार प्रदर्शन किया और रूस को भागने का मौका नहीं दिया।

फिलहाल रूस ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की है। रेजनिकोव ने कहा कि यूक्रेनी तोपखाने ने कई पुलों पर सटीक हमले किए। स्थानीय अधिकारियों ने कहा कि हिमारस रॉकेट सिस्टम ने पिछले हफ्ते खेरसॉन क्षेत्र में नदी के किनारे कई हमले किए। जिसका एक वीडियो यूक्रेन ने भी जारी किया था। जिसमें यह दावा किया गया था कि रूसी एंटी-एयर डिफेंस S-300 सेल को नष्ट कर दिया गया है।

इस लंबे युद्ध में रूसी सेना अब यूक्रेन में रिहायशी इलाकों पर हमला करने के लिए एस-300 मिसाइलों का इस्तेमाल कर रही है। सोवियत काल की S-300 मिसाइलों को पहली बार 1979 में तैनात किया गया था। इन मिसाइलों को सोवियत वायु रक्षा बलों के लिए हवाई हमलों और काउंटर क्रूज मिसाइलों से बचाव के लिए डिज़ाइन किया गया था। जबकि यूक्रेन उन्हें अमेरिका की मदद से तबाह कर रहा है.