रुद्राक्ष लाभ: बच्चों में एकाग्रता की कमी? इसके साथ दूर हो जाओ!

रुद्राक्ष लाभ: रुद्राक्ष भगवान शिव की सबसे प्रिय वस्तुओं में से एक है। यदि रुद्राक्ष को श्रावण मास में पूरे विधि-विधान से धारण किया जाए तो जातक को इसका सकारात्मक लाभ प्राप्त होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार देवाधिदेव महादेव के आंसुओं से रुद्राक्ष की उत्पत्ति मानी जाती है। रुद्राक्ष कई प्रकार के होते हैं। इन्हीं में से एक है गणेश रुद्राक्ष। मान्यताओं के अनुसार श्रावण मास के किसी भी बुधवार को गणेश रुद्राक्ष धारण करने से बम बम भोलेनाथ की ही नहीं बल्कि भगवान गणेश की भी विशेष कृपा प्राप्त होती है। गणेश रुद्राक्ष जीवन में सभी प्रकार की बाधाओं को दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। तो आइए जानते हैं गणेश रुद्राक्ष धारण करने से होने वाले फायदों के बारे में,

एकाग्रता बढ़ाता है
ज्ञान, बुद्धि और एकाग्रता बढ़ाने के लिए बुधवार के दिन गणेश रुद्राक्ष धारण करें। इससे काम बिना किसी बाधा के पूरा हो जाएगा।

व्यापार में वृद्धि
यदि तमाम कोशिशों के बाद भी व्यापार में तरक्की नहीं हो रही हो तो ऐसे जातकों को बुधवार के दिन गणेश रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। ऐसा करने से धीमी गति से चल रहा व्यापार फिर से चलने लगेगा और आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। 

तनाव से राहत
गणेश रुद्राक्ष को भगवान शिव का एक रूप माना जाता है । कहा जाता है कि विघ्नहरथा गजन उन लोगों के कष्टों को दूर करता है जो सच्ची भक्ति के साथ भगवान गणेश की पूजा करते हैं। मानसिक तनाव से मुक्ति पाने के लिए गणेश रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। 

याददाश्त में वृद्धि
अगर बच्चे पढ़ाई में ध्यान नहीं दे रहे हैं तो उन्हें बुधवार के दिन विधि-विधान से गणेश रुद्राक्ष धारण करना चाहिए। इससे बच्चों की याददाश्त में सुधार होगा और पढ़ाई में उनकी एकाग्रता भी बढ़ेगी।

बुध को
वाणी और बुद्धि का ग्रह माना जाता है, जो बुद्ध की शुभता के लिए अच्छा है। बुद्ध की शुभता के लिए गणेश रुद्राक्ष धारण करने की सलाह दी जाती है। यह मनुष्य की वाणी को प्रभावशाली बनाता है।