राहुल गांधी ने बीजेपी सांसद कमलेश पासवान को दिया ‘प्रस्ताव’, मिला ये जवाब

नई दिल्ली: राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा सांसद कमलेश पासवान को एक अच्छा दलित नेता बताते हुए कहा कि वह एक गलत पार्टी (भाजपा) में हैं. बीजेपी सांसद पासवान ने राहुल गांधी की पेशकश को ठुकराते हुए यहां तक ​​कह दिया कि उनकी पार्टी (कांग्रेस) में उन्हें अपनी पार्टी में लेकर उन्हें खुश करने की क्षमता नहीं है.

‘कांग्रेस सरकारों ने 60 साल तक क्या किया?’

दरअसल, बुधवार को लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चल रही चर्चा के दौरान बीजेपी की ओर से दूसरे स्पीकर के रूप में बोलते हुए उत्तर प्रदेश के बांसगांव से सांसद कमलेश पासवान ने मोदी-योगी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए. ने कांग्रेस सरकारों की जमकर आलोचना की। लक्षित। राहुल गांधी से सीधा सवाल करते हुए पासवान ने कहा कि 60 साल तक कांग्रेस की सरकारों ने देश के लोगों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने पर ध्यान क्यों नहीं दिया? गरीब हटाओ का नारा देने वाली कांग्रेस ने गरीबों के जीवन स्तर को सुधारने के लिए क्या किया?

कमलेश राहुल की बातों का जवाब देने के लिए फौरन उठ खड़े हुए
पासवान के बाद बोलने के लिए खड़े हुए राहुल गांधी ने पासवान के इलाके में दलितों की स्थिति और इतिहास का जिक्र करते हुए कहा कि वह एक अच्छे दलित नेता हैं लेकिन गलत पार्टी में हैं. राहुल ने इशारों में एक पुरानी बातचीत का भी जिक्र किया। कमलेश पासवान तुरंत राहुल गांधी की बात का जवाब देने के लिए खड़े हो गए लेकिन स्पीकर ने उन्हें उस वक्त बोलने नहीं दिया.

‘हमें खुश करने की क्षमता कांग्रेस में नहीं’
राहुल गांधी के भाषण के बाद जब लोकसभा अध्यक्ष कमलेश पासवान को बोलने की इजाजत दी गई तो उन्होंने कांग्रेस सरकारों पर ‘फूट डालो राज करो’ की नीति पर चलने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने उन्हें बहुत कुछ दिया है उन्हें 3 बार सांसद बनाया गया है और उनकी पार्टी (कांग्रेस) )) में उसे अपनी पार्टी में ले कर खुश करने की क्षमता नहीं है।

‘नेताजी ने सपा को टिकट देकर बनाया विधायक’
इससे पहले सदन में मुलायम सिंह यादव की मौजूदगी में कमलेश पासवान ने उन्हें अपना गुरु बताते हुए कहा कि नेताजी ने 2002 में उन्हें सपा का टिकट देकर विधायक बनाया था, लेकिन आज उन्हें सपा में होने का अफसोस है. उन्होंने अखिलेश यादव पर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ‘जुमलेबाजी’ खेलने का भी आरोप लगाया।