रवि योग 2023: कुंडली में शनि-दोष से है परेशान? रवि योग पर करें यह खास उपाय

नई दिल्ली: सूर्य देव को ग्रहों का राजा माना जाता है। रोज सुबह उन्हें अर्घ्य देने से ढेर सारे शुभ पुष्पों की प्राप्ति होती है। जिस दिन शनि-रवि का मिलन होता है उस दिन रवि योग बनता है। इस बार यह शुभ योग आज बन रहा है। यह सेल आज दोपहर से 30 अप्रैल की सुबह तक चलेगी।

यह योग ऊर्जा से भरपूर होता है और माना जाता है कि इस दिन व्यक्ति जो भी कार्य करता है उसमें सफलता मिलने की प्रबल संभावना रहती है। इस योग की विशेषता यह है कि इसमें कोई भी बुराई नहीं होती है अर्थात जो भी अच्छा होता है वह अच्छा ही होता है। इस योग में हम सूर्य-शनि दोषों को खत्म करने के उपाय भी कर सकते हैं ।

2023 का रवि योग लंबे समय तक रहेगा

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह शुभ योग आज दोपहर 12 बजकर 47 मिनट से शुरू होकर 30 अप्रैल सुबह 5 बजकर 5 मिनट तक रहेगा। आज शनिवार का शुभ मुहूर्त सुबह 11 बजकर 12 मिनट से दोपहर 12 बजकर 04 मिनट तक रहेगा। इस शुभ मुहूर्त में आप कोई भी कार्य कर सकते हैं। उस काम में आपका नुकसान नहीं होगा।

सूर्य-शनि दोष से मुक्ति

धार्मिक विद्वानों के अनुसार शनिवार का दिन शनिदेव की आराधना का है। सूर्य देव की पूजा के लिए रवि योग को शुभ माना जाता है। लेकिन रवि योग होने पर शनि और सूर्य की पूजा एक साथ की जा सकती है। ये दोनों पिता-पुत्र माने जाते हैं। ऐसे में दोनों की एक साथ पूजा करने से शनि दोष और सूर्य दोष से मुक्ति मिलती है।

 

सूर्य-शनि दोष दूर करने के लिए करें ये काम

इस दिन गेहूं और काले तिल का दान करें। सूर्य देव को गेहूँ और शनिदेव को काला तिल अत्यंत प्रिय है। ऐसा करने से कुंडली में मौजूद सूर्य और शनि दोष समाप्त हो जाते हैं। शनिवार के दिन नजदीकी शनि मंदिर में जाकर छाया दान करें। ऐसा करने से शनिमंच, अर्धर्ध और शनि दोष से मुक्ति मिलती है। जल में गुड़, लाल चंदन और लाल फूल डालकर रवि योग में सूर्य देव को अर्घ्य दें। उस समय सूर्य मंत्र का जाप करना चाहिए। इस उपाय से कुंडली में सूर्य दोष का अशुभ प्रभाव दूर हो जाएगा।