यू पी चुनाव: सीएम योगी ने सपा पर कसा तंज, कहा- पार्टी की तरह प्रत्याशियों की लिस्ट में भी अपराधी

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) शनिवार को बुलंदशहर (Bulandshahr) पहुंचे. यहां उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधा. सपा प्रत्याशियों पर निशाना साधते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा की सूची विकास की नहीं विनाश की सूची लगती है. पश्चिमि यूपी में गठबंधन ने अपराधियों को टिकट दिया है. वह विकास नहीं विनाश करते हैं. यहां उन्होंने कहा, “पेशेवार दंगाई, अपराधी और हिस्ट्रीशीटर समाजवादी पार्टी की सोच के अनुरूप उनकी पार्टी की चुनाव सूची की शोभा बढ़ा रहे हैं. सपा की चुनाव उम्मीदवारों की सूची विघटनकारी और दंगाई और अराजकता की उस सोच को प्रदर्शित करने वाली है, जिसमें विकास नहीं बल्कि विनाश है. जिसमें शांति और सौहार्द नहीं बल्कि अराजकता और उद्दंडता है. जिसमें पेशेवार माफियाओं और अपराधियों को संरक्षण देने की एक कोशिश दिखाई देती है.”

बुलंदशहर में योगी ने प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करते हुए फ्री राशन, मेडिकल कॉलेज, फिल्म सिटी, जेवर एयरपोर्ट और गंगा एक्सप्रेसवे समेत अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं. उन्होंने कहा, केंद्र सरकार ने कोरोना संकट से उबरने के लिए देश के हर राज्य को हर संभव सुविधाएं मुहैया कराई हैं. उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है और हमने कोविड प्रबंधन का अपना मॉडल विकसित किया है. इसके बाद सीएम योगी गिरधानी नगर पहुंचे और घर-घर जनसंपर्क किया और बीजेपी के लिए वोट मांगा.

गृह मंत्री अमित शाह ने कैराना में किया डोर-टू-डोर कैंपेन

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने शनिवार को कैराना विधानसभा से डोर-टू-डोर कैंपेन की शुरुआत की. यहां वह शहर की कई गलियों में गए और अपने हाथों से लोगों को पर्चा बांटा. यहां पर उन्होंने उन परिवारों से भी मुलाकात की, जिन्हें कथित तौर पर सपा सरकार में पलायन करना पड़ा था.गृह मंत्री अमित शाह ने यहां कहा, “मैंने पलायन करने वाले परिवार के सदस्यों से मुलाकात की. उन्हें अब कोई डर नहीं है. उन्होंने कहा है कि जिन लोगों ने उन्हें पलायन के लिए मजबूर किया आज वह खुद पलायन कर चुके हैं.” उन्होंने कहा, “अगर यूपी में कानून-व्यवस्था की स्थिति को बनाए रखना है, तुष्टिकरण को समाप्त करना है, एक जाति के लिए काम करने वाली सरकार की परंपरा को खत्म करना है तो एक बार फिर सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बीजेपी की सरकार बनानी होगी.”