मानसून में ‘इन’ फूड्स से रहें दूर ..

 : बारिश की बूंदों से मन का कोना गीला होने का कारण यह है कि भीषण गर्मी के बाद मानसून आ गया है। बहुत से लोग मानसून को पसंद करते हैं, क्योंकि यह तापमान में गिरावट लाता है और वातावरण को सुखद बनाता है, लेकिन बारिश कई बीमारियों और संक्रमणों का कारण भी बनती है। इसलिए इस दौरान हमें अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए, खासतौर पर खान-पान का चुनाव सोच-समझकर करना बेहद जरू

 

1. मांसाहारी भोजन
सनातन धर्म में सावन के महीने में मांस खाने की मनाही है, लेकिन इसका एक वैज्ञानिक कारण भी है, दरअसल बारिश के मौसम में फफूंद संक्रमण, फंगस और मांस के सड़ने का खतरा बढ़ जाता है, इसकी कमी के कारण सीधी धूप से।

 

2. हरी पत्तेदार सब्जियां
खासकर मानसून के दौरान हरी पत्तेदार सब्जियों से बचना चाहिए, चाहे उनमें कितने भी पोषक तत्व क्यों न हों। बरसात के मौसम में नमी थोड़ी बढ़ जाती है, जिससे कीटाणुओं को पनपने में मदद मिलती है, वे पत्तेदार सब्जियों पर भी हमला करते हैं और इससे हमारे स्वास्थ्य को खतरा होता है।

3. दही
दही हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है, क्योंकि यह पाचन को सुचारू रखता है, लेकिन मानसून के दौरान इसका सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि यह ठंडी चीज है, इससे सर्दी और गले में खराश हो सकती है।

 

4. दूध
बरसात के मौसम में कीड़ों की संख्या काफी बढ़ जाती है और डेंगू-चिकनगुनिया मच्छरों की संख्या बढ़ने लगती है। यह डेयरी पशुओं को प्रभावित करता है और उन्हें बीमार बनाता है, इसलिए इन जानवरों का दूध पीने से बीमारी होने की संभावना अ