Thursday, February 22

भक्तों के लिए फिर से खोल दिए गए जगन्नाथ मंदिर

ओडिशा के पुरी में भगवान जगन्नाथ मंदिर को कोविड -19 मानदंडों का सख्ती से पालन करते हुए भक्तों के लिए फिर से खोल दिया गया है। ओडिशा में कोविड -19 मामलों में तेजी से वृद्धि के बीच जगन्नाथ मंदिर 10 जनवरी से 31 जनवरी तक भक्तों के लिए बंद रहा। हालांकि, छत्तीष निजोग ने 28 जनवरी को हुई अपनी बैठक में जनता के लिए मंदिर को फिर से खोलने का फैसला किया था।

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) ने भक्तों को भगवान के सुचारू दर्शन सुनिश्चित करने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की है। भक्तों को सुबह 6 बजे से मंदिर में प्रवेश की अनुमति दी गई है, सार्वजनिक दर्शन रात 9 बजे तक जारी रहेगा।

हालांकि, यह कोविड-19 बीमारी के प्रसार को रोकने के उपाय के रूप में स्वच्छता गतिविधियों के चलते रविवार को जनता के लिए बंद रहेगा।

एसओपी के अनुसार, सभी भक्तों को कोविड -19 टीकाकरण पत्र (दो खुराक लेने का) या 96 घंटे के भीतर किए गए कोविड -19 नकारात्मक प्रमाण पत्र (आरटी-पीसीआर) के साथ अपना फोटो आईडी कार्ड लाना आवश्यक होगा।

सभी भक्तों के लिए मंदिर के अंदर और बाहर हर समय मास्क पहनना अनिवार्य है। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर जुमार्ना लगाया जाएगा और उन्हें प्रवेश करने से मना किया जा सकता है।

भक्तों को मंदिर में प्रवेश करने से पहले अपने हाथों को सैनिटाइज करना होगा। सभी के द्वारा कोविड के उचित व्यवहार को सुनिश्चित करने के लिए सख्त प्रवर्तन किया जाएगा। भक्तों को कोविड-19 दिशानिर्देशों के अनुसार हर समय शारीरिक दूरी बनाए रखनी होगी।