बुर्किना फासो में सेना की बैरकों पर हमला

पश्चिम अफ्रीकी देश बुर्किना फासो में सेना की बैरकों पर हमला कर जोरदार गोलीबारी हुई है। इसे देश की मौजूदा सरकार का तख्ता पलटने की कोशिश करार दिया गया है।

बुर्किना फासो की राजधानी औगाडोउगोउ के एक सैन्य अड्डे पर सुबह तड़के हुई भारी गोलीबारी से हड़कंप मच गया। बुर्किना फासो के रक्षा मंत्री बर्थेलेमी सिम्पोर ने कहा कि न सिर्फ औगाडोउगोउ की सैन्य बैरक, बल्कि देश के कुछ अन्य शहरों में भी सेना की बैरकों पर हमले हुए हैं। वैसे राष्ट्रपति रोच मार्क क्रिश्चियन काबोर को विद्रोही सैनिकों द्वारा हिरासत में लिए जाने की जानकारी भी आई थी, किन्तु रक्षा मंत्री ने इससे इनकार किया। राष्ट्रपति इस समय कहां हैं, यह जानकारी देने से भी रक्षा मंत्री ने इनकार किया।

देश में इस्लामी चरमपंथ से सरकार के निपटने के तौर तरीकों पर कई हफ्तों से असंतोष जाहिर किया जा रहा था। इस घटनाक्रम को बुर्किना फासो में तख्ता पलट की कोशिशों के रूप में भी देखा जा रहा है। इस घटनाक्रम के बाद बुर्किना फासो की सरकार की ओर से एक बयान भी जारी किया गया। बयान में सेना की बैरकों में गोलीबारी किये जाने की बात स्वीकार की गयी है। बयान में देश पर सेना का कब्जा होने की बात से इनकार किया गया है। कहा गया है कि सेना के उच्च अधिकारी शांति बहाल करने पर काम कर रहे हैं। दावा किया गया कि गणराज्य की किसी भी संस्था को निशाना नहीं बनाया गया है। वैसे इस घटनाक्रम के बाद देश में तनाव बना हुआ है।