बुधवार के उपाय: बुधवार की रात को करें ये काम, गणेशजी के आशीर्वाद से अचानक धन लाभ के योग बनेंगे

बुधवार के उपाय: सप्ताह के सात दिनों का अलग-अलग महत्व होता है। हर दिन अलग-अलग देवता से जुड़ा होता है जिसमें बुधवार को गणपतिजी की बारी कहा जाता है। बुधवार का दिन गणेश जी को समर्पित है। हिंदू धर्म में गणेश जी को प्रथम पूज्य देवता का स्थान प्राप्त है। किसी भी शुभ और मांगलिक कार्य की शुरुआत भगवान गणपति की पूजा करके ही करनी चाहिए। गणेश जी की पूजा करने से किया गया कार्य निर्विघ्न संपन्न होता है और कार्य में सफलता भी मिलती है। 

 

इसी तरह अगर किसी को जीवन में सफलता और तरक्की हासिल करनी है तो भगवान गणेश का आशीर्वाद जरूरी है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, यदि बुधवार के दिन भगवान गणेश की पूजा के साथ कुछ विशेष उपाय भी किए जाएं तो व्यक्ति के जीवन की सबसे बड़ी समस्या यानी आर्थिक तंगी से छुटकारा मिल सकता है। आजकल ज्यादातर लोगों के जीवन में आर्थिक परेशानियां देखने को मिलती हैं। जिससे लोग परेशान हैं. अगर आपके जीवन में भी ऐसी कोई समस्या है तो बुधवार की रात को यह उपाय करें। इस उपाय को करने से धन प्राप्ति के रास्ते खुल जाते हैं। 

 

बुधवार रात्रि चमत्कारी उपाय 

1. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कई बार व्यक्ति कड़ी मेहनत करता है लेकिन फिर भी उसे परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अगर ऐसी समस्या बनी रहती है तो बुधवार की रात को गणेश मंदिर जाएं और उन्हें 21 शमी के पत्ते चढ़ाएं। मान्यता है कि शमी के पत्ते चढ़ाने से भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं और करियर में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं। 

 

2.जो लोग जीवन में धन संबंधी समस्याओं से परेशान हैं उन्हें बुधवार के दिन गणेश मंदिर जाकर पीपल के पेड़ के नीचे घी का दीपक जलाना चाहिए। इस उपाय को करने से धन संबंधी परेशानियां दूर हो जाती हैं और जीवन में सुख-समृद्धि आती है। 

3. अगर नौकरी या बिजनेस में दिक्कत आ रही है तो बुधवार की रात 6 इलायची तकिए के नीचे रखकर सोएं। अगली सुबह इस इलायची को किसी सुनसान जगह पर फेंक दें। जब आप इलायची फेंकने जाएं तो सावधान रहें कि टिप न लगे। इस इलायची को फांकने से आपके जीवन की परेशानियां भी दूर हो जाएंगी और धन वृद्धि के रास्ते खुल जाएंगे। 

 

4. बुधवार की रात को घर के मंदिर में दीपक जलाएं और भगवान गणपति के सामने बैठें। इसके बाद गणेश मंत्र का यथासंभव जाप करें। आप इस मंत्र का जाप भी कर सकते हैं “वक्रतुंड महाकाय, सूर्यकोटि समप्रभ, निर्विघ्नं कुरुमे देव, सर्व कार्येषु सर्वदा..” इससे गणपति जी की कृपा से जीवन की परेशानियां दूर हो जाएंगी।