बदायूं में बंदरों ने 52 वर्षीय व्यक्ति का पीछा किया, छत से गिरकर मौत

बरेली: यूपी के बदायूं में बुधवार को बंदरों के झुंड से बचने के प्रयास में घर की छत से गिरकर 52 वर्षीय किसान की मौत हो गई. पीड़ित होरीलाल कादरचौक कस्बे में अकेला रहता था, जबकि उसके दो बेटे दिल्ली में काम करते हैं। मंगलवार की शाम जब वह अपने घर की छत पर गया तो करीब 30 बंदरों के एक दल ने उस पर हमला कर दिया। उसने भागने की कोशिश की लेकिन गलती से छत से गिर गया। उसके पड़ोसी उसे पास के अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया कि परिजनों ने बुधवार को बिना पोस्टमार्टम किए ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया।
पीड़ित के परिजन ने कहा, ‘होरीलाल की मौत बंदरों की वजह से हुई। सरकार को इसके बारे में कुछ करना चाहिए। 100 से अधिक बंदर हैं जो हर दिन हमारे घरों और फसलों को निशाना बनाते हैं।”
जुलाई के बाद से यहां बंदर के हमले में किसी इंसान की जान जाने की यह तीसरी ऐसी घटना है। 15 जुलाई को उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के एक गांव में बंदरों के एक समूह ने तीन मंजिला घर की छत से चार महीने के बच्चे को उसके पिता की बाहों से छीन लिया और उसे फेंक दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। इसी तरह 30 जुलाई को एक 35 वर्षीय महिला बंदर के हमले में घायल हो गई थी और दो हफ्ते बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.