प्रभु श्रीराम के स्वागत में 22 को सजेंगे अल्पसंख्यकों के भी धार्मिक स्थल : महापौर

कानपुर, 03 जनवरी (हि.स.)। भगवान पुरुषोत्तम श्रीराम की नगरी अयोध्या में 22 जनवरी को भव्य कार्यक्रम आयोजित होने जा रहा है। इस दुर्लभ क्षण का सभी को इंतजार था और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी श्रीरामलला में प्राण प्रतिष्ठा करेंगे। इसको देखते हुए कानपुर में प्रभु श्रीराम के स्वागत की तैयारियां की जा रही है। महापौर प्रमिला पाण्डेय का कहना है कि मंदिरों के साथ अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थल चर्च, गुरुद्वारा और मस्जिदों को भी सजाया जाएगा।

महापौर प्रमिला पाण्डेय ने प्रेसवार्ता कर बताया कि 22 जनवरी को अयोध्या में श्रीरामलला जी प्राण-प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन हो रहा है। शहरवासियों से अपील की कि प्रभु राम के अयोध्या आगमन के समय जिस प्रकार दीपावली का त्योहार मनाया जाता है, उसी तरह प्राण-प्रतिष्ठा वाले दिन प्रत्येक शहरवासी अपने घर की साफ-सफाई कर दीया जलाएं। आगे कहा कि सदन में प्रस्ताव पास कर वार्ड के मंदिरों को सजाने के साथ ही विशेष सफाई अभियान चलाया जायेगा। यह अभियान 22 जनवरी तक चलेगा। पार्षदों को 5100 दीपक दिये जाएंगे जो अपने क्षेत्र के मन्दिरों, मलिन बस्तियों एवं गरीबों को वितरण करेंगे।

शहर को राममय बनाने के लिए वह गुरुवार से बैंडबाजे के साथ पूरे शहर में पदयात्रा (जन जागरण यात्रा) की शुरुआत करेंगी जो 22 जनवरी तक चलेगी। आनंदेश्वर मदिंर से शुरुआत होने वाली पदयात्रा में भगवा झंडा के साथ, सफाई, ढोल, मंजीरा के साथ गायन भी होगा। पनकी, जागेश्वर, वनखंडेश्वर, सिद्धनाथ मंदिरों एवं गुमटी गुरूद्वारा को सजाया जायेगा एवं प्रसाद वितरण होगा। शहर में एलईडी पर प्राण-प्रतिष्ठा का सीधा प्रसारण होगा।

बताया कि क्राइस्ट चर्च, ग्वालटोली चर्च, कैंटचर्च को सजाये जाने के लिये पादरियों ने सहमति प्रदान की है। प्रत्येक पार्षद को 5100 दीये तेल, बत्ती सहित दिये जायेंगे। जो अपने क्षेत्र के मन्दिरों, मलिन बस्तियों एवं गरीबों को वितरण करेंगे। यह भी दावा कि मुस्लिम धार्मिक गुरुओं के बात करके मस्जिदों को भी सजाया जाएगा।