प्रधानमंत्री मोदी ने रोजगार मेले के तहत 1 लाख से ज्यादा युवाओं को नियुक्ति पत्र बांटे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को रोजगार मेले के तहत एक लाख से अधिक नवनियुक्त कर्मचारियों को नियुक्ति पत्र बांटे। प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित एक समारोह के दौरान राजधानी दिल्ली में एकीकृत कर्मयोगी भवन परिसर के पहले चरण की आधारशिला भी रखी। इस परिसर का उद्देश्य मिशन कर्मयोगी की विभिन्न शाखाओं के बीच समन्वय और सहयोग को बढ़ावा देना है।
पीएममोदी ने बांटे नियुक्ति पत्र

पीएममोदी ने बांटे नियुक्ति पत्र

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ”…आज हर युवा जानता है कि अगर वह कड़ी मेहनत करे तो अपने लिए जगह बना सकता है। 2014 से हम युवाओं को भारत सरकार के साथ जोड़ रहे हैं और सशक्त बना रहे हैं। विकास में भागीदार बनना चाहता हूँ। हमने पिछली सरकार की तुलना में 1.5 फीसदी ज्यादा नौकरियां दी हैं…” उन्होंने कहा, ”इतना ही नहीं, सरकार इस बात को लेकर बहुत उत्सुक है कि भर्ती प्रक्रिया तय समय में पूरी हो जाए. इससे हर युवा को अपनी योग्यता साबित करने का समान अवसर मिल रहा है।” प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ”आप सभी सरकारी कर्मचारियों के ‘क्षमता निर्माण’ के लिए भारत सरकार ने ‘कर्मयोगी भारत पोर्टल’ भी लॉन्च किया है। इस पोर्टल पर विभिन्न विषयों से संबंधित 800 से अधिक पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं। अब तक 30 पाठ्यक्रम उपलब्ध कराये जा चुके हैं। इस पोर्टल के माध्यम से. लाखों से ज्यादा यूजर्स जुड़ चुके हैं. आप सभी भी इस पोर्टल का भरपूर लाभ उठायें और अपने कौशल को निखारें।
 
पीएम मोदी ने कहा, “बेहतर कनेक्टिविटी नए व्यवसायों का निर्माण करती है और रोजगार के लाखों अवसर पैदा करती है। इसका मतलब है कि अच्छी कनेक्टिविटी का सीधा असर देश के विकास पर पड़ता है।” उन्होंने कहा, ”जब किसी देश में कनेक्टिविटी बढ़ती है तो इसका असर एक साथ कई चीजों पर पड़ता है। बेहतर कनेक्टिविटी के साथ, नए बाज़ार बनने लगते हैं और पर्यटन स्थल विकसित होते हैं।” आज इस जॉब फेयर के जरिए भारतीय रेलवे में भी भर्तियां की जा रही हैं . भारतीय रेलवे आज एक बड़े बदलाव के दौर से गुजर रही है। इस दशक के अंत तक भारतीय रेलवे पूरी तरह से चालू हो जाएगी। एक बदलाव के लिए।”