पीरियड्स में दही खाये या नहीं ?

पीरियड्स आने पर ऐंठन, सूजन, शरीर में दर्द और मिजाज भी साथ आते हैं। मायने यह रखता है कि आप इस दौरान क्या खाते हैं। पीरियड्स के दौरान क्या खाएं और क्या न खाएं यह सबसे भ्रमित करने वाली चीजों में से एक है, खासकर अगर आप सदियों पुरानी मान्यताओं से चिपके रहते हैं।

मासिक धर्म के दौरान कई खाद्य पदार्थों को पारंपरिक रूप से छूने या सेवन करने की मनाही थी और ऐसा ही एक भोजन है दही। ऐसा माना जाता है कि पीरियड्स के दौरान दही खाने से ब्लड फ्लो बढ़ता है और परेशानी हो सकती है, लेकिन क्या यह सच है? यहां आपको इसके बारे में जानने की जरूरत है!

क्या मैं पीरियड्स के दौरान दही खा सकती हूं?

जी हां, पीरियड्स के दौरान दही का सेवन करने से कोई परेशानी नहीं होती है। एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज, फरीदाबाद की लीड डायटीशियन विभा बाजपेयी कहती हैं, “दही कैल्शियम के अच्छे स्रोत के रूप में हमारी हड्डियों और शरीर को पर्याप्त ताकत देने में मदद करती है। इसके अलावा, दही में मौजूद प्रोबायोटिक गुण सूजन और अन्य बीमारियों को रोकने में मदद कर सकते हैं। यह पाचन संबंधी समस्याओं को कम करने में काम करता है। पीरियड्स के दौरान दही का सेवन चिंता और अवसाद को कम करने के साथ-साथ मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन को कम करने में मदद करता है।

सूजन और कब्ज की समस्या को कम करता है
पीरियड्स के दौरान खट्टे खाद्य पदार्थों और दही से परहेज करना एक सदियों पुरानी मान्यता है जो सिर्फ एक मिथक है। यह किसी भी तरह से आपकी समस्याओं को नहीं जोड़ता है। वास्तव में, दही को स्वस्थ आंत बैक्टीरिया को बढ़ावा देने में मदद करने के लिए माना जाता है, जिससे सूजन या कब्ज की संभावना कम हो जाती है, जो कि ज्यादातर महिलाएं अपने पीरियड्स के दौरान अनुभव करती हैं।

इसी तरह दही खाओ
पीरियड्स के दौरान दही खाने का सबसे अच्छा तरीका है छाछ या लस्सी क्योंकि यह हमारे शरीर को हाइड्रेट करने में मदद करता है और खोए हुए पोषक तत्वों की भरपाई करता है।

दही रात या शाम को क्यों नहीं खाना चाहिए?
दही प्रोटीन और कैल्शियम का समृद्ध स्रोत होने के कारण हमारी हड्डियों, दांतों और शरीर के अन्य कार्यों के लिए अच्छा है। इसके प्रोबायोटिक गुण पाचन में भी मदद करते हैं। विभा बाजपेयी कहती हैं, ”जहां इस सुपरफूड का सेवन दिन के किसी भी समय किया जा सकता है, वहीं कुछ शर्तों के तहत आपको रात या शाम को दही का सेवन करने से बचना चाहिए.”

* जिन लोगों को खांसी-जुकाम है या जिन्हें अस्थमा की समस्या है, उन्हें रात के समय दही का सेवन नहीं करना चाहिए।

*आयुर्वेदिक उपचार लेते समय दही खाने से बचें क्योंकि यह आयुर्वेदिक दवा के साथ परस्पर क्रिया कर सकता है और इसके परिणामस्वरूप दवा का अवशोषण कम हो सकता है।

* साधारण लोग बिना किसी शिकायत के रात को दही में मेथी, काली मिर्च आदि ले सकते हैं।

पीरियड्स के दौरान किन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए?
आपका आहार आपके पीरियड्स में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, और इसलिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि पीरियड्स के दौरान क्या खाना चाहिए और किन खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए।

*अतिरिक्त मसालेदार भोजन से दूर रहें।

*अतिरिक्त नमकीन भोजन से बचें।

*कॉफी के सेवन से बचें।

* प्रसंस्कृत और वसायुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन सीमित करना चाहिए।

*ध्यान रखें कि शराब का सेवन न करें।