Thursday, February 22

नाखूनों में ये बदलाव हो सकते हैं कैंसर का संकेत

समय पर कैंसर का पता चलने पर कैंसर का इलाज संभव है। यह शरीर में कैंसर के फैलने से पहले रोगी को संकेत देता है। इसका मतलब सभी के लिए समय होना चाहिए। उंगलियां हमारे लिए उतनी ही महत्वपूर्ण हैं जितनी कि नाखून। शरीर के बाकी हिस्सों की तरह नाखूनों का भी स्वस्थ होना जरूरी है। नाखून कैंसर से जुड़े होते हैं। अगर आपके नाखून बहुत पीले हो गए हैं, तो यह फंगल इंफेक्शन हो सकता है। अगर आपके नाखून बहुत खुरदुरे और कमजोर हैं तो एनीमिया जैसी बीमारी हो सकती है। नाखूनों पर सफेद धारियाँ किडनी या लीवर की बीमारी का संकेत हो सकती हैं। आप अपने शरीर में अपने नाखूनों के रंग से भी देख सकते हैं। कैंसर का पता लगा सकता है। जी हां, कैंसर आपके नाखूनों का रंग बदल देता है। यहां इस सवाल का जवाब है कि कैसे।क्या नेल पॉलिश कैंसर का संकेत हो सकती है?

अगर आपके नाखूनों का रंग बदलता है तो इसका मतलब कैंसर भी हो सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह स्किन कैंसर है। त्वचा के कैंसर को शरीर के रंग में बदलाव के रूप में देखा जाता है। यह भी नाखूनों के रंग में बदलाव का मुख्य कारण है। आपके नाखूनों के रंग में बदलाव, नाखूनों के भीतर काली रेखाओं का बनना, त्वचा का काला पड़ना, ये सभी कैंसर के ही रूप हैं। लेकिन अगर आप पहले से ही कैंसर के मरीज हैं, तो याद रखें कि कभी-कभी दवा के साइड इफेक्ट के कारण आपके नाखूनों का रंग बदल सकता है। साथ ही नाखूनों के आसपास सूजन भी कैंसर का संकेत हो सकता है।

इन लक्षणों को देखने के बाद आपको क्या करना चाहिए?

अगर नाखूनों से खून बह रहा हो और ये लक्षण लंबे समय तक बने रहें तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। नाखूनों पर काली और भूरी धारियों को नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। यदि आप इन लक्षणों को नोटिस करते हैं, तो आपको बायोप्सी के माध्यम से इस प्रकार के कैंसर का निदान किया जा सकता है। कैंसर होने पर तुरंत इलाज शुरू कर देना चाहिए। इसके साथ आपको सर्जरी, कीमो थेरेपी, इम्यूनोथेरेपी जैसे इलाज शुरू करने की जरूरत है।

जैसे ही आप अपने नाखूनों में बदलाव देखें, डॉक्टर से सलाह लें और अपने शरीर की जांच करें। ऐसा इसलिए है क्योंकि पोषक तत्वों की कमी से भी नाखून में बदलाव आ सकता है। लेकिन इसे नजरअंदाज करने की गलती कभी न करें। समय पर पता चलने पर कैंसर का इलाज संभव है।