ध्यान से! नौकरी के नाम पर हो रहे घोटाले, बेरोजगारों को इस तरह फंसाया जा रहा जाल में…

चंडीगढ़ : बेरोजगारों को नौकरी देकर ठगने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब मामला मोहाली में सामने आया है। यहां एक व्यक्ति ने करीब डेढ़ दर्जन बेरोजगारों को निशाना बनाया है। बदमाश ने उनसे 10 लाख रुपए ठग लिए लेकिन नौकरी नहीं मिली।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुल्लांपुर गरीबदास थाने की पुलिस ने हाईकोर्ट व अन्य न्यायालयों में नौकरी दिलाने का झांसा देकर करीब 10 लाख रुपये की ठगी के मामले में एक व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया है. आरोपी की पहचान संजीव कुमार उर्फ ​​संजू धीमान निवासी गांव जनसाला बनूर, जिला पटियाला, पंजाब के रूप में हुई है. 

सूत्रों के अनुसार कंसाला गांव निवासी चरणजीत सिंह, मनप्रीत सिंह, जसवंत सिंह सहित 14 बेरोजगारों ने जिला पुलिस कप्तान मोहाली को तहरीर दी, जिसकी जांच की गयी. परिवादी चरनजीत सिंह ने कहा कि संजीव कुमार ने उसे यह कहकर अपने जाल में फंसाया कि वह न्यायालयों में चयन समिति का सदस्य है और ड्राइवर, क्लर्क और चपरासी आदि की नौकरी करेगा लेकिन उन्हें इन नौकरियों के लिए पैसे देने होंगे। . 

पीड़ित युवक उसकी बातों में आ गया और उसने संजीव कुमार द्वारा बताए गए खाते में अपने प्रमाणपत्रों की फोटोकॉपी सहित पैसे जमा करवा दिए और कुछ नकद भी दे दिए. शिकायतकर्ताओं के अनुसार, संजीव कुमार करीब दो साल तक रोपड़, मोहाली और चंडीगढ़ की अदालतों के बाहर उनसे मिलने आता रहा, लेकिन न तो उसे नौकरी मिली और न ही पैसा लौटाया.