तालिबान : लड़कियों के लिए स्कूल फिर से खोलना हमारी जिम्मेदारी है, विश्व के दबाव पर नहीं कर रहे ऐसा

काबुल : अफगानिस्तान में तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार ने कहा है कि देश भर में लड़कियों के लिए स्कूल फिर से खोलना उनकी जिम्मेदारी है, न कि विश्व दबाव के कारण वह ऐसा कर रहे है।

खामा प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, कार्यवाहक मंत्री मौली नूरुल्लाह मुनीर ने गुरुवार को अफगानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र महासचिव के विशेष प्रतिनिधि डेबोरा लियोन के साथ बैठक के दौरान यह टिप्पणी की।

मुनीर ने कहा कि शिक्षा प्राप्त करना लड़कियों का अधिकार है और इसे मुहैया कराने की जिम्मेदारी तालिबान सरकार की है। तालिबान अधिकारियों ने घोषणा की है कि मार्च में शुरू होने वाले अगले शैक्षणिक वर्ष में बच्चियों के लिए उच्च विद्यालय और लड़कों और लड़कियों के लिए सार्वजनिक विश्वविद्यालय फिर से खोले जाएंगे।

अगस्त 2021 में तालिबान द्वारा देश पर कब्जा करने के बाद से लड़कों और लड़कियों के लिए कम से कम 150 सार्वजनिक विश्वविद्यालय और लड़कियों के लिए सभी सार्वजनिक उच्च विद्यालय बंद हैं।

इस महीने की शुरूआत में, तालिबान के उच्च शिक्षा मंत्री अब्दुल बकी हक्कानी ने घोषणा की थी कि देश भर में पुरुष और महिला छात्रों दोनों के लिए विश्वविद्यालय फिर से खुलेंगे, लेकिन लड़कों और लड़कियों के लिए कक्षाएं अलग-अलग होंगी।