डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘अरावली द लॉस्ट माउंटेन्स’ को बेस्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म और बेस्ट डॉक्यूमेंट्री निर्देशक का पुरस्कार

बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2022 में निर्देशक जिगर नागडा की डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘अरावली द लॉस्ट माउंटेन्स’ को बेस्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म और बेस्ट डॉक्यूमेंट्री निर्देशक का पुरस्कार प्राप्त हुआ है। उदयपुर पिक्चर्स प्रस्तुत पर्यावरण पर आधारित ‘अरावली द लॉस्ट माउंटेन्स’ के लेखक और निर्देशक जिगर नागड़ा है।

ये डॉक्यूमेंट्री अरावली रेंजर्स के आसपास की पर्यावरणीय परिस्तिथियों की कहानी को बयां करती है। कैसे यहां माइन्स के काम ने रफ्तार पकड़ी, जिसके कारण यहां के लोगों को रोजगार तो मिला, लेकिन धीरे-धीरे यहां की समस्याएं भी बढ़ती जा रही हैं। इस डॉक्यूमेंट्री में कई उच्च अधिकारियों के बयान के साथ-साथ यहांं के आमजन से भी बात की गई है कि माइन्स से लोगों को परेशानी है या वे इससे खुश हैं। माइन्स के बढ़ते प्रभाव से अरावली में पानी का स्तर बहत नीचे जा चुका है जिसके कारण यहां पानी की भारी कमी पेश आ रही है।

ऐसे ही कई मुद्दों को जिगर ने अपनी डॉक्यूमेंट्री ‘अरावली द लॉस्ट माउंटेन्स’ में दिखाने का प्रयास किया है। और इनका यह प्रयास सफल भी रहा है। जिसके फलस्वरूप इन्हें बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2022 बेस्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म और बेस्ट डॉक्यूमेंट्री निर्देशक के पुरस्कार से नवाजा गया है।

इस मौके पर निर्देशक जिगर नागड़ा ने कहा कि हम इस डॉक्यूमेंट्री को फीचर फिल्म में बनाने की योजना बना रहे हैं। जो अभी स्क्रिप्टिंग चरण में है। इसके अलावा उदयपुर पिक्चर्स और जिगर नागड़ा एक राजस्थानी फिल्म लेकर आ रहे हैं, जिसकी शूटिंग अप्रैल से शुरू हो रही है।

बता दें कि नागड़ा ने कई बॉलीवुड निर्देशकों को असिस्ट भी किया है और वे बॉलीवुड की कई बड़ी फिल्मों का हिस्सा भी रह चुके हैं।