ज्योतिष उपाय: ऐसी महिलाएं चुगली करने वाली होती हैं, जानिए कुंडली के किस दोष के कारण ऐसा व्यवहार

ज्योतिष उपाय: हिंदू ज्योतिष के अनुसार कुंडली में दोष होने से लोगों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि किसी स्त्री की कुंडली के दूसरे भाव में कोई कयामत हो तो ऐसी स्त्री चुगलखोर होती है और सबके सामने अपने ही परिवार की आलोचना करती है। ऐसी महिलाओं को अपने परिवार का सुख नहीं मिल पाता है। साथ ही परिवार में शांति नहीं रहती है।

कुंडली के दूसरे भाव में दोष

यदि किसी जातक की कुंडली के दूसरे भाव में कोई दोष हो तो उसे प्रकृति के प्रकोप का शिकार होना पड़ सकता है। इस लिहाज से ग्लानि के कारण आपसी संबंध भी बिगड़ जाते हैं। मुसीबत के समय परिवार के सदस्य भी साथ छोड़ देते हैं।

दोष निवारण के लिए करें यह उपाय

ज्योतिष आधार के दोषों को दूर करने के लिए घर और परिवार का सम्मान करना जरूरी है। अतिथि को पूरा सम्मान देने से भी कुंडली के दूसरे भाव का दोष दूर होता है।

एक अन्य अर्थ धन, वित्तीय स्थिरता और परिवार से संबंधित है

हिंदू ज्योतिष में, किसी व्यक्ति की जन्म कुंडली में दूसरा घर धन, वित्तीय स्थिरता, परिवार और वाणी से जुड़ा होता है। इस घर में दोष या “दोष” इन क्षेत्रों में कई चुनौतियों और बाधाओं का संकेत कर सकते हैं। चूँकि दूसरा घर परिवार और रिश्तों से भी जुड़ा होता है, इस घर में एक दोष इन क्षेत्रों में चुनौतियों का संकेत दे सकता है, जैसे कि पारिवारिक संघर्ष, तनावपूर्ण रिश्ते और वैवाहिक समस्याएं।