गोवा में कल 40 विधानसभा सीटों के लिए पड़ेंगे वोट, एक ही चरण में होगा चुनाव

पणजी : गोवा की 40 विधानसभा सीटों के लिए प्रचार शनिवार को समाप्त होने के साथ ही राज्य में सोमवार को एक ही चरण में मतदान होगा. गोवा में बहुकोणीय चुनावी मुकाबले में मौजूदा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा चुनौती दी जा रही है।
गोवा विधानसभा में 40 सदस्यों की ताकत है, जिसमें से भाजपा के पास वर्तमान में 17 विधायक हैं और उसे महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी), गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के विजय सरदेसाई और तीन निर्दलीय विधायकों का समर्थन प्राप्त है। जीएफपी और एमजीपी के तीन-तीन विधायक हैं और दूसरी ओर कांग्रेस के पास 15 विधायक हैं।

गोवा चुनाव के लिए विभिन्न राजनीतिक दलों के कुल 301 उम्मीदवार मैदान में हैं।

गोवा में होने वाले विधानसभा चुनाव में शिवसेना के साथ सत्तारूढ़ भाजपा, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी प्रमुख दावेदार हैं।

हालांकि पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल पर्रिकर भी अपने पिता की परंपरागत पणजी विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे हैं. पणजी विधानसभा क्षेत्र से टिकट नहीं मिलने के बाद उन्होंने भाजपा से इस्तीफा दे दिया था।

भाजपा ने पणजी सीट से कांग्रेस पार्टी के टर्नकोट अतानासियो “बाबुश” मोनसेरेट को मैदान में उतारा है। वह 2019 में कांग्रेस से नौ अन्य विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हुए थे।

राज्य की चुनावी राजनीति में पणजी विधानसभा सीट का अपना ही महत्व है. पूर्व केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, जिन्होंने पणजी का प्रतिनिधित्व किया था, राज्य के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं।

गोवा में विभिन्न राजनीतिक दलों के शीर्ष नेताओं द्वारा गहन चुनावी प्रचार देखा गया।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने एआईसीसी प्रभारी दिनेश गुंडू राव के साथ गोवा में प्रचार किया, कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकारों द्वारा अतीत में किए गए कार्यों के लिए वोट मांगे, राज्य में लोगों के कल्याण में बाधा डालने के लिए राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों की आलोचना की।

गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश चोडनकर ने भी गोवा में मतदाताओं के लिए एक वीडियो संदेश पोस्ट किया। उन्होंने राज्य में पूर्व में कांग्रेस नीत सरकार द्वारा किए गए कार्यों को याद किया।

इसी तरह, भाजपा, कांग्रेस और टीएमसी के कई उम्मीदवारों ने अन्य राजनीतिक दलों के साथ अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में उनके द्वारा किए गए विकास कार्यों पर प्रकाश डालते हुए वीडियो संदेश पोस्ट किए।

इस बीच, आप के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी वादा किया कि अगर उनकी पार्टी राज्य में सत्ता में आई तो 18 साल से अधिक उम्र की हर महिला को नकद सहायता और कई समुदायों को अन्य लाभ दिए जाएंगे।

शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने शनिवार को कहा कि महाराष्ट्र में सुशासन का मॉडल अन्य सभी राज्यों में दोहराया जाना चाहिए।

आप ने गोवा विधानसभा चुनाव के लिए वकील से नेता बने अमित पालेकर को मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित किया है।
गोवा में वोटों की गिनती 10 मार्च को होगी।