केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने दी ‘घर से काम करने वाले’ के लिए बड़ी ख़ुशख़बरी

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने बुधवार को कहा कि घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) के दौरान कुछ मामलों में कर्मचारियों की उत्पादकता बढ़ी है. कार्मिक राज्य मंत्री ने कहा कि घर से काम करने के परिणामस्वरूप कर्मचारी अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सप्ताहांत और छुट्टियों पर भी काम कर रहे हैं. सिंह ने कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के घर से काम कर रहे कर्मचारियों और पृथकवास (आइसोलेशन) में या कोरोना वायरस से संक्रमित कर्मचारियों से संपर्क किया।

उत्पादकता प्रभावित नहीं होने के लिए कर्मचारियों की सराहना 

कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, उन्होंने उनमें से प्रत्येक का हाल-चाल पूछा और उनसे अपने अनुभव और सुझाव साझा करने को भी कहा. सिंह ने यह सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रयासों, समर्पण और प्रतिबद्धता की सराहना की कि कार्यालय में महामारी के दौरान बिना किसी रुकावट के काम चल रहा है. उन्होंने उत्पादकता प्रभावित नहीं होने के लिए कर्मचारियों की सराहना की.

कर्मचारियों ने साझा किए अपने अनुभव

बयान में कहा गया है कि मंत्रालय के कई अधिकारियों और कर्मचारियों ने मंत्री के साथ अपने अनुभव ऑनलाइन साझा किए और लक्ष्य-उन्मुख कार्य संस्कृति के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई. इसमें कहा गया है कि सिंह ने महामारी से प्रभावित लोगों और उनके परिवार के सदस्यों को मंत्रालय से हरसंभव मदद और समर्थन का आश्वासन दिया. इसमें कहा गया है कि सभी कर्मचारियों को घर से काम करने की सुविधा के लिए ‘वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क’ (वीपीएन) कनेक्शन प्रदान किया गया है. सिंह ने कहा कि गर्भवती महिलाओं और दिव्यांग कर्मचारियों को कार्यालय में उपस्थित होने से छूट दी गई है और अवर सचिव के स्तर से नीचे के सरकारी कर्मचारियों की भौतिक उपस्थिति वास्तविक क्षमता के 50 प्रतिशत तक सीमित कर दी गई है और शेष 50 प्रतिशत घर से काम कर रहे हैं. उन्होंने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को कोविड-उपयुक्त व्यवहार का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करने की सलाह दी, जिसमें बार-बार हाथ धोना, मास्क पहनना और हर समय सामाजिक दूरी का पालन करना शामिल है.