कनाडा में एक भारतीय मूल के ट्रक ड्राइवर ने 30 किलोग्राम कोकीन की तस्करी का अपराध स्वीकार कर लिया

भारतीय मूल की ट्रक ड्राइवर करिश्मा जगरुप ने कनाडा की एक अदालत में कोकीन तस्करी का अपराध स्वीकार कर लिया है। मामले में उसे अधिकतम 20 साल की जेल, 1 मिलियन डॉलर का जुर्माना या तीन साल तक की निगरानी में रिहाई का सामना करना पड़ सकता है।

अमेरिकी अटॉर्नी जेसी लैसलोविच ने कहा कि ओंटारियो निवासी 42 वर्षीय करिश्मा कौर जगरूप मोंटाना सीमा पर कनाडा में प्रवेश करने की कोशिश कर रही थीं, जब उन्हें सीमा शुल्क और सीमा गश्ती एजेंटों ने पकड़ लिया। बाद में उन पर मुकदमा चलाया गया।

सरकार ने अदालती दस्तावेजों में आरोप लगाया है कि जुलाई 2021 में, टोल काउंटी में स्वीटग्रास पोर्ट ऑफ एंट्री के पास उत्तर की ओर जा रहा एक वाणिज्यिक ट्रक आउटबाउंड लेन सी में प्रवेश कर गया जब सीमा शुल्क और सीमा सुरक्षा अधिकारियों ने ट्रक को रुकने का आदेश दिया, लेकिन चालक ने सिग्नल को नजरअंदाज कर दिया और आगे बढ़ गया। अधिकारियों ने ट्रक का पीछा किया. अंत में ट्रक को वापस बूथ पर ले जाया गया और ट्रक से सभी सामान को नीचे उतारकर गहनता से जांच की गई। जिसमें तरबूज के दो कार्टन निकाले गए और एक प्लास्टिक बैग में लगभग 30 किलोग्राम कोकीन मिली।

पूछताछ में अधिकारियों को बताया गया कि आरोपी सिख ड्राइवर एक सप्ताह पहले संयुक्त राज्य अमेरिका में दाखिल हुआ था और उसने ओरेगॉन और कैलिफोर्निया के सुपरमार्केट में कोकीन पहुंचाई थी। अंततः उसने यह भी स्वीकार कर लिया कि वह कनाडा में एक समूह के लिए कोकीन पहुंचा रहा था। आरोपी ड्राइवर को सजा के लिए 23 मई की तारीख तय की गई है. और उन्हें आगे की कार्रवाई तक एक उपचार केंद्र में सशर्त रिहा कर दिया गया है।