इस फल के सेवन से आप स्वस्थ रह सकते हैं, बाजार में इसकी मांग बढ़ती जा रही है

आज के वैश्वीकरण के दौर में अब कुछ भी एक जगह नहीं मिल सकता है। खाने के व्यंजन से लेकर फल और सब्जियों तक हर जगह हर चीज का इस्तेमाल किया जा रहा है. भारत व्यवसायियों के लिए विश्व का सबसे बड़ा बाजार प्रदान करता है। जिससे कई विदेशी चीजों ने यहां अपना ठिकाना बना लिया है। आजकल बाजार में विदेशी फलों की मांग भी तेजी से बढ़ रही है।

ऐसे कई फल और सब्जियां हैं जिनकी पहले भारत में खेती नहीं की जाती थी, लेकिन अब बढ़ती मांग के कारण यहां खेती की जा रही है। कीवी एक ऐसा फल है। आजकल बाजार में इसकी डिमांड काफी बढ़ गई है। और यह बहुत अधिक कीमत पर बिकती है। आइए आपको बताते हैं कि आप कीवी की खेती कैसे शुरू कर सकते हैं।

इन राज्यों में कीवी की खेती
विदेशी फलों में कीवी की खेती से होने वाले मुनाफे ने भारतीय किसानों का ध्यान खींचा है। इसका उत्पादन मुख्य रूप से चीन में होता है। वहां के लोग इसे आंवले के नाम से भी जानते हैं। भारत के उत्तरपूर्वी राज्य नागालैंड में बड़े पैमाने पर कीवी की खेती शुरू हो गई है। नागालैंड के अलावा अन्य पूर्वोत्तर राज्यों के किसानों ने भी बड़े पैमाने पर कीवी की फसल उगानी शुरू कर दी है। लेकिन उत्पादन की दृष्टि से नागालैंड भारत का सबसे अधिक उत्पादन करने वाला राज्य है।

कीवी उद्यमियों के मुताबिक कीवी किसान लाखों रुपए कमाते हैं। अगर कोई किसान एक हेक्टेयर के बाग में कीवी की खेती करता है तो वह इससे 24 लाख रुपए तक आसानी से कमा सकता है। आजकल बाजार में इसकी डिमांड बहुत ज्यादा है। डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी से उबरने में कीवी बहुत मददगार होता है। इसलिए डॉक्टर भी इसे खाने की सलाह देते हैं। बाजार में इसके एक पीस की कीमत 40-50 रुपए तक है।

कीवी
रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में कारगर है । इसमें विटामिन सी बहुत अधिक होता है। कीवी में संतरे से 5 गुना ज्यादा विटामिन सी होता है। इसमें मानव के शारीरिक विकास से संबंधित 20 से अधिक पोषक तत्व होते हैं। कीवी में शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हर तरह के विटामिन पाए जाते हैं। इसलिए कई लोग इसका सेवन नियमित रूप से करते हैं।