इन तरीकों से नकली QR Code को पहचाने और ऑनलाइन धोखाधड़ी के शिकार होने से बचे

कोरोना काल में ऑनलाइन फ्रॉड के मामले तेजी से बढ़े हैं। इन मामलों में नकली क्यूआर कोड (Fake QR Code) का इस्तेमाल किया गया है। ऐसे में अब यह जानना बहुत जरूरी हो गया है कि नकली क्यूआर की पहचान कैसे की जाए और इससे कैसे बचा जाए। इसका जवाब आपको हमारी इस खबर में मिलेगा।

कोरोना वायरस के कारण डिजिटल पेमेंट का चलन तेजी से बढ़ा है। अब अधिकतर लोग इस जानलेवा संक्रमण से बचने के लिए क्यूआर कोड (QR Code) के जरिए ऑनलाइन पेमेंट करते हैं। हालांकि, इस कोरोना काल में ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले तेजी से बढ़े हैं, जिनमें नकली क्यूआर कोड का उपयोग किया गया है। इस खबर में हम आपको उन पांच तरीकों की जानकारी देंगे, जिनके माध्यम से आप नकली क्यूआर कोड की पहचान कर पाएंगे और खुद को ऑनलाइन स्कैम से बचा सकेंगे।

qr_code.jpg

क्यूआर कोड के सोर्स की करें पहचान :
नकली क्यूआर कोड को पहचानने का सबसे पहला स्टेप उसके सोर्स की पहचान करना है। इसके लिए आप पहले क्यूआर कोड को स्कैन करें और इसके बाद देखें कि क्या इसपर वही नाम आ रहा है, जिसके लिए आप पेमेंट करना चाहते हैं। अगर नहीं तो ऑनलाइन पेमेंट न करें। इसके अलावा आप सार्वजनिक रूप से उपलब्ध क्यूआर कोड को कभी भी स्कैन करने का प्रयास न करें, क्योंकि इन्हें हैकर्स द्वारा बनाए जाने की संभावना होती है।

क्यूआर कोड पर दें ध्यान :

हमेशा ध्यान रखें कि ऐसे टेम्पर्ड क्यूआर कोड को स्कैन भूलकर भी न करें, जो दिखने में टेढ़ा-मेढ़ा या उखड़ा हुआ हो। ऐसे में आप ऑनलाइन धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं।

क्यूआर कोड को स्कैन करते समय अपनी डिजिटल सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए आप स्कैनिंग के माध्यम से प्राप्त लिंक पर जरूर ध्यान दें। इसके लिए आप इन स्टेप्स को करें फॉलो :
गूगल प्ले स्टोर से क्यूआर कोड स्कैनर ऐप डाउनलोड करें।
इस ऐप के जरिए क्यूआर कोड को स्कैन करें और प्राप्त लिंक की जांच करें।
अगर लिंक http है, तो उस लिंक को भूलकर भी ओपन करें। आप इस लिंक के जरिए स्कैम में फंस सकते हैं।

ईमेल के जरिए आए क्यूआर कोड को न करें स्कैन :

आजकल ज्यादातर हैकर्स ईमेल के जरिए नकली क्यूआर कोड लोगों को भेजते हैं और ठगने का प्रयास करते हैं। ऐसे में लोगों को ईमेल के माध्यम से आए क्यूआर कोड को स्कैन नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से वह अपने आप को ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचा सकेंगे।