आंध्रा प्रदेश CM ने दिए राज्‍य के हर जिले में एयरपोर्ट बनाने के निर्देश

अमरावती (आंध्र प्रदेश): आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) ने गुरुवार को अधिकारियों के साथ हवाई अड्डों, बंदरगाहों और मछली पकड़ने के बंदरगाहों पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की. इस दौरान सीएम जगन मोहन रेड्डी ने हर जिले में एयरपोर्ट बनाने को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिए.

हर जिले में एयरपोर्ट बनाने के निर्देश

राज्य में एविएशन सेक्टर पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) ने अधिकारियों को नए हवाई अड्डों के निर्माण की योजना बनाने के निर्देश दिए. उन्होंने इस दौरान इस बात को भी ध्यान में रखने का निर्देश दिया कि राज्य के हर जिले में एक हवाई अड्डा होना चाहिए और प्रत्येक हवाई अड्डा मानक आकार का होना चाहिए, ताकि हवाईअड्डों पर छोटे और बड़े विमानों की लैंडिंग की जा सके.

ग्रीनफील्ड बंदरगाहों को प्राथमिकता देने का आदेश

बंदरगाहों पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को राज्य में तीन ग्रीनफील्ड बंदरगाहों-रामायपट्टनम, मछलीपट्टनम और भवनपाडु के निर्माण को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया. इस दौरान अधिकारियों ने सीएम को बताया कि रामायपट्टनम बंदरगाह पर काम जल्द ही शुरू हो जाएगा.

इन जिलों में बंदरगाहों के निर्माण कार्य शुरू

राज्य सरकार की जानकारी के अनुसार, पहले फेज में राज्य में 9 मछली पकड़ने के बंदरगाहों में से चार निर्माण के प्रारंभिक चरण में हैं और अक्टूबर 2022 तक पूरा होने की संभावना है. उप्पदा (पूर्वी गोदावरी), निजामपट्टनम (गुंटूर), मछलीपट्टनम (कृष्णा), और जुव्वालादीन (नेल्लोर) जिले में स्थित मछली पकड़ने के बंदरगाहों के लिए प्रारंभिक निर्माण शुरू हो गया है.

इन जिलों में किया जाएगा फिशिंग हार्बर का निर्माण

अधिकारियों ने बताया कि दूसरे फेज के तहत 5 हार्बर का निर्माण निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा किया जाएगा और उनकी संबंधित टेंडर को भी जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा. फेज-2 के तहत, बुडागटलापलेम (श्रीकाकुलम), पुदीमडका (विशाखापत्तनम), बियापुथिप्पा (पश्चिम गोदावरी), बंदरगाह (प्रकाशम), कोट्टापट्टनम (प्रकाशम) जिलों में फिशिंग हार्बर का निर्माण किया जाएगा.