अमित शाह : जातिवादी सरकारें उत्तर प्रदेश का भला नहीं कर सकती

केन्द्रीय गृहमंत्री एवं भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को अलीगढ़ में विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि जातिवादी सरकारें उत्तर प्रदेश का भला नहीं कर सकतीं। डबल इंजन की सरकार ने पांच वर्ष में प्रदेश की तस्वीर बदलने का काम किया है। हर गरीब के घर में शोचालय, हर गरीब के घर में बिजली और हर गरीब महिला के घर में गैस चूल्हा पहुंचा है। गरीबों को मकान मिला है। डबल इंजन की सरकार ने प्रदेश का चहुंमुखी विकास किया है। शाह ने कहा कि बुआ और बबुआ की सरकार में यह संभव था क्या?

अलीगढ़ के अतरौली विधानसभा क्षेत्र में रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने स्वर्गीय कल्याण सिंह, राजा महेन्द्र प्रताप सिंह, कवि गोपालदास नीरज और अशोक सिंघल जैसी महान विभूतियों को नमन करते हुए जनता से भाजपा के लिए समर्थन की अपील की। अतरौली से कल्याण सिंह के पोते संदीप सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। अमित शाह ने कहा कि सबको टीका लगा है। किसी को एक रुपये भी नहीं देने पड़े हैं। देश के 130 करोड़ लोगों को टीका देकर मोदी सरकार ने सुरक्षा दी है। अखिलेश यादव का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि उप्र में कुछ लोग टीका लगाने से मना कर रहे थे। लोगों को भ्रम में डाल रहे थे। हालांकि बाद में उन्होंने भी टीका लगावाया है। आज टीका कवर प्राप्त करने की वजह से ही तीसरी लहर परास्त हो रही है। हम उससे सुरक्षित हैं।

शाह ने रैली में मौजूद जनसमूह से कहा कि आप मुझे बताइए कि अखिलेश और बहनजी की सरकार थी, तब गुंडे परेशान करते थे या नहीं? पहले पुलिस गुंडों से डरती थी। आज पूरे उप्र में माफिया ढूंढना है तो तीन ही जगह मिलते हैं। एक तो जेल में, दूसरे उप्र की सीमा के बाहर और तीसरी जगह सपा प्रत्याशियों की सूची में। मुख्यमंत्री योगी ने कानून व्यवस्था का राज कायम किया है। प्रदेश में लूट, हत्या, डकैती, अपहरण में भारी गिरावट आयी है।

केंद्रीय गृहमंत्री शाह ने कहा कि अखिलेश संसद में खड़े होकर अनुच्छेद 370 समाप्त किये जाने का विरोध करते थे। अखिलेश कहते थे कि खून की नदिया बहेंगी। अखिलेश बाबू खून की नदियां तो छोड़िए एक कंकर भी नहीं फेका गया। नदियां बहाने वालों को पता है कि देश में मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी की सरकार नहीं है। आज नरेन्द्र मोदी की सरकार है। शाह ने कहा कि वैसे तो अतरौली में अखिलेश की आने की उनकी हिम्मत नहीं है। यदि वह यहां आते हैं तो अतरौली की जनता उनसे जरूर पूछे कि वह 370 का विरोध क्यों कर रहे थे।

अमित शाह ने स्थानीय उद्योग को समाप्त करने का भी विपक्ष पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि देश के कोने-कोने में लोग अलीगढ़ का ताला पसंद करते हैं। सपा बसपा की सरकार ने अलीगढ़ में ताले की फैक्टरी में ताला लगा दिया था। हमने ताला उद्योग का फिर से चलाने का वादा किया था। आज ताला उद्योग चल निकला है। शाह ने राहुल गांधी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी आलू की फैक्टरी लगाने की बात कर रहे हैं। जिन्हें यह पता नहीं कि आलू फैक्टरी में लगेगा या खेत में, वह किसान की समस्या दूर करने निकले हैं।

अमित शाह ने कहा कि जब मैं 2013 में महामंत्री बनकर उत्तर प्रदेश आया तब बाबू जी के घर गया। अपने बच्चे की तरह उन्होंने मुझे उप्र की राजनीति सिखायी। आज उसी के आधार पर तीन-तीन सरकार बनी। जब राम मंदिर और मुख्यमंत्री की कुर्सी में से एक को चुनना था तब बाबू जी ने राम जन्मभूमि को चुना। उनकी आत्मा को शांति मिली होगी। उनके जीते-जी प्रधानमंत्री मोदी ने राम मंदिर का शिलान्यास किया। भव्य राम मंदिर निर्माण हो रहा है। इस मौके पर केंद्रीय राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल, सांसद राजवीर सिंह, सतीश गौतम समेत पार्टी के अन्य नेता मौजूद रहे।