अफगानिस्तान : तालिबान सरकार ने देश में मीडिया संस्थानों को काबुल में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने से रोक

अफगानिस्तान में तालिबान सरकार ने देश में मीडिया संस्थानों को काबुल में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पर रोक लगा दी है। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, एक सम्मेलन काबुल में बुधवार को होना था।

अफगानिस्तान जर्निलिस्ट सेंटर ने एक बयान में कहा कि सम्मेलन में विभिन्न मीडिया संगठनों के 11 प्रतिनिधियों को भाग लेना था।

अफगानिस्तान नेशनल जर्नलिस्ट्स यूनियन के प्रमुख अली असगर अकबरजादा ने कहा, “सभी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया आउटलेट इसे कवर कर रहे थे, हालांकि, दुर्भाग्य से, इस्लामिक अमीरात के अधिकारियों के आदेश के कारण, सम्मेलन रद्द कर दिया गया।”

अफगानिस्तान नेशनल जर्नलिस्ट्स यूनियन के सदस्यों ने कहा कि इस्लामिक अमीरात ने उन्हें अनुमति मिलने तक सम्मेलन आयोजित नहीं करने का निर्देश दिया है।

अकबरजादा ने कहा, “हम इस्लामिक अमीरात से भविष्य में अपने निर्णय को अंतिम रूप देने का आह्वान करते हैं। उन्हें जल्द से जल्द निर्णय लेना चाहिए और हमें एक परमिट देना चाहिए ताकि हम इसके आधार पर अपना सम्मेलन आयोजित कर सकें।”

तालिबान सरकार ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की कि उसने मीडिया आउटलेट्स के सम्मेलन को प्रतिबंधित किया है या नहीं, लेकिन कहा कि वह इस्लामिक नियमों के आधार पर मीडिया का समर्थन करती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने के बाद से 43 फीसदी से ज्यादा मीडिया गतिविधियां रोक दी गई हैं और 60 फीसदी से ज्यादा मीडिया कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं।